घुटना प्रत्यारोपण टालने के लिए इच्छाशक्ति ओर नियंत्रण जरूरी 

तहलका न्यूज,बीकानेर। वर्तमान परिवेश एवं खान पान का विशेष असर मानव स्वास्थ्य पर देखने को मिल रहा है जिसमें सर्वाधिक कुप्रभाव मानव शरीर के महत्त्वपूर्ण अंग घुटनों पर पड़ रहा है और आजकल प्राय: देखने में आया है कि कम उम्र के पुरुष और महिला घुटना दर्द से प्रभावित हो रहे हैं यह शब्द रोट्रेक्ट क्लब, प्लेनेट ऑफ़ कोमर्स, विप्र फाऊंडेशन एवं रवि आचार्य के सौजन्य से घुटना और जोड़ों से संबंधित समस्याओं हेतु धरणीधर मन्दिर ऑडिटोरियम में आयोजित निशुल्क सेमीनार में के.डी. अस्पताल अहमदाबाद से पधार रहे जॉइंट रिप्लेसमेंट सर्जन डॉ. अमीर संघवी ने कहे | संघवी ने स्वस्थ घुटना स्वस्थ हम के उद्देश्य पर मार्गदर्शन करते हुए घुटना प्रत्यारोपण के ओपरेशन को कैसे टाला जाए इसके लिए जनता को जागरूक किया गया | सेमीनार में सीनियर फिजियोथेरेपिस्ट डॉ. धवल मेहता भी अपने अनुभव साझा किये | शिविर के पश्चात डॉ संघवी ने घुटने में असहनीय दर्द, चलने में समस्या, वात की समस्या, सीढियां चढने में दिक्कत, घुटना व हिप और जोड़ों से संबंधित रोगियों को निशुल्क परामर्श भी दिया गया । शिविर की अध्यक्षता करते हुए पुजारी बाबा ने डॉ संघवी का मरीजों के प्रति सेवा भाव की सराहना करते हुए सभी के लिए मंगलकामना की । मुख्य अतिथि बीकानेर जिला उद्योग संघ अध्यक्ष द्वारकाप्रसाद पचीसिया ने बताया कि श्रीमती सी एम मूंधड़ा चेरिटेबल ट्रस्ट द्वारा पूर्व में अहमदाबाद के के डी अस्पताल में डॉ संघवी के नेतृत्व में बीकानेर के 29 मरीजों के निशुल्क घुटना प्रत्यारोपण करवाए गए जो डॉ संघवी के अनुभव के कारण आज पूरी तरह सामान्य व्यक्ति की तरह चलने में सक्षम है । अहमदाबाद से पधारे केतन शाह का सभी ने सम्मान किया । मंच संचालन डॉ विनय आचार्य ने किया ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.