गहलोत ने केन्द्रीय मंत्री के बारे में ऐसा क्यों कहा कि,वह काहे का मंत्री है…….

तहलका न्यूज,बीकानेर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि जब जब उन्हें मौका मिला है,उन्होंने अनेक जनकल्याणकारी व जनहित के काम किये है। लेकिन भाजपा व भाजपा के मंत्री महज नकारात्मक प्रचार करके देश में भा्रमकता फैला रहे है। ये बात सीएम ने सर्किट हाउस में पत्रकार वार्ता के दौरान कही। गहलोत ने केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह को निशाने पर लिया। उन्होंने कहा की संजीवनी सोसायटी से गजेंद्र सिंह के क्या सम्बन्ध रहे है, इसका उन्हें जवाब देना चाहिए। सोसायटी के पांच लोग जेल में है करोड़ों रुपए का विदेशों में निवेश किया गया है। जिन लोगों के पैसे सोसायटी ने हड़पे वे लोग अपनी गाढ़ी कमाई की मांग को लेकर घूम रहे है। गहलोत ने कहा कि 25 सांसद जीताकर दिए हैं, राजस्थान का हमारा जलसंसाधन मंत्री बना है। कम से कम एक परियोजना को तो राष्ट्रीय परियोजना घोषित करवाएं। इतनी ही उसकी औकात नहीं है। वह काहे का मंत्री है, जो प्राइम मिनिस्टर को कन्वीन्स नहीं कर सके। 40 साल का इतिहास उठाकर देख लीजिए, मैं खुद एमपी रहा हूं, आज राजस्थान का नक्शा बदल गया, हमने काम करवाए। इनसे पूछिए 5 साल में इन्होंने राजस्थान के लिए किया क्या है? ईआरसीपी तो इनकी सरकार की बनाई हुई है। पीएम कह रहे हैं हमारी लोक​प्रिय मुख्यमंत्री, अरे उसे मिलने का टाइम तो दो। इनके छह-छह मुख्यमंत्री के दावेदार बन गए हैं। गहलोत ने कहा कि अगर जनता दुबारा आशीर्वाद देगी तो बीकानेर की रेलफाटक की समस्या का भी अंत कर दूंगा। उन्होंने कहा कि हिंसा करने वाले असामाजिक तत्व है जिनसे हमारा कोई संबंध नहीं है। इसलिए मैं बीकानेर में बैठकर देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी व अमित शाह से कहना चाहता हूं कि पूरे देश में शांति, सदभाव, भाईचारा व अंहिसा का माहौल बनाये। क्योंकि इसमें इन दोनों की भूमिका सबसे बड़ी है, क्योंकि देश में वो राज कर रहे हैं। देश में बढ़ रही महंगाई पर गहलोत ने कहा कि देश में लगातार महंगाई बढ़ रही है, लेकिन बीजेपी को यह भ्रम हो गया कि महंगाई बढऩे की प्रवाह मत करो, ध्रूवीकरण कर हम चुनाव जीत जाएंगे। गहलोत ने कहा कि बीजेपी की धु्रवीकरण की राजनीति देश को आगे किस दिशा की ओर से ले जा रहा यह तो भविष्य बताएगा। लेकिन मैं प्रदेश के युवा पीढ़ी से आह्वान कहना चाहता हूं कि इस धु्रवीकरण की राजनीति को उनको ज्यादा समझने की आवश्यकता है, क्योंकि आने वाला कल युवा पीढ़ी का है।गहलोत ने कहा कि देश में संविधान की धज्जिया उड़ी रही है, जिसकी हमें चिंता सता रही है। देशभर में जितने साहित्यकार, लेखक है उनके आर्टिकल पढ़ों तो सारी पिक्चर सामने आ जाएगी। कुछ लोग लिखते-लिखते थक गए, लेकिन केन्द्र में बैठे लोग उनके लेखन की परवाह ही नहीं कर रहे। गहलोत ने कहा कि कांग्रेस की हमेशा से यह सोच रही है कि सरकार द्वारा लिया जाने वाले फैसले को लेकर लोग क्या क हेंगे, लेकिन बीजेपी सरकार को लोगों की परवाह ही नहीं है। धर्म के नाम पर देशभर में राजनीति कर रहे है। गहलोत ने कहा कि राजस्थान सरकार के बजट को लेकर केन्द्र की दाल गलने वाली नहीं है, इसलिए नोन इस्यू को इस्यू बनाकर पेश कर रहे हैं।


Leave a Reply

Your email address will not be published.