डूंगर कॉलेज में हंगामा:प्रिंसिपल की कुर्सी सड़क पर ले आए

तहलका न्यूज,बीकानेर।डूंगर कॉलेज में छात्रों ने अपनी मांगों को लेकर बुधवार को जमकर हंगामा किया। इस दौरान प्रिंसिपल की कुर्सी लेकर सड़क पर पहुंच गए। बाद में पुलिस की समझाइश से मामला निपटा। प्रदर्शन एनएसयूआई के कार्यकर्ताओं ने किया।अठारह सूत्री मांगो को लेकर छात्रों ने प्रिंसिपल से मुलाकात की। इस दौरान बात नहीं बनी तो उग्र प्रदर्शन करते हुए प्राचार्य की कुर्सी को सड़क पर ले आए। काफी देर हंगामा होने के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और स्टूडेंट्स को समझाया। डूंगर कॉलेज में विभिन्न मांगों को लेकर एनएसयूआई ने उग्र प्रदर्शन की चेतावनी दी थी। इस दौरान पूर्व जिला अध्यक्ष रामनिवास कूकणा के नेतृत्व में छात्रों ने कॉलेज प्रिंसिपल अपनी कुर्सी से नदारद थे। गुस्साए छात्रों ने प्राचार्य की कुर्सी को उठाकर कॉलेज के मेन गेट पर सड़क पर रख दी। इस दौरान कूकणा के साथ एनएसयूआई के छात्रों ने नारेबाजी की। वहीं एनएसयूआई के पूर्व जिलाध्यक्ष कुकणा का कहना है कि छात्र अपने हितों को लेकर कई बार मांग कर चुके है। परन्तु महाविद्यालय प्रशासन द्वारा किसी तरह की उचित कार्यवाही नहीं करने पर आज मजबूरन छात्रों को प्रदर्शन करना पड़ा। दरअसल, स्टूडेंट्स नियमित क्लासेज नहीं लगने की शिकायत कर रहे हैं। इसके अलावा लाइब्रेरी व सुविधाओं को लेकर मांग कर रहे हैं।नव निर्वाचित छात्र संघ अध्यक्ष हरीराम गोदारा ने कहा कि जिन मुद्दों को लेकर हमने चुनाव लड़ा था चुनाव परिणाम आते ही हमने उन मुद्दों को पूर्ण करने के प्रयास शुरू कर दिए जिसमें हमारी प्राथमिकता महाविद्यालय के अंदर सुचारु रूप से कक्षाओं का संचालन,कक्षाओं की साफ़ सफ़ाई,शुद्ध पेयजल आदि हैं लेकिन अभी भी महाविद्यालय प्रशासन गहरी नींद में सो रहा है इसलिए मजबूरन हमें प्राचार्य का घेराव करना पड़ा समय रहते अगर सभी माँगो को पूरा नहीं किया गया तो मजबूरन उग्र आंदोलन करना पड़ेगा जिसकी समस्त ज़िम्मेदारी प्राचार्य महोदय एवं महाविद्यालय प्रशासन की होगी। एनएसयूआई ने सांकेतिक विरोध दर्ज करवाने के लिए ख़ाली पड़ी प्राचार्य की कुर्सी को मुख्य द्वार पर रख कर विरोध दर्ज करवाया जिसे विरोध दर्ज करवाने के बाद ससम्मान प्राचार्य कक्ष में रख दिया गया और प्राचार्य कक्ष का घेराव किया गया घेराव के पश्चात उपस्तिथ उपप्राचार्य से वार्ता हुई जिसमें 9 माँगों पर लिखित में सहमति बनी तत्पश्चात प्राचार्य कक्ष में दिया गया धरना समाप्त किया गया।इस अवसर छात्रनेता रामनिवास गोदारा,रोहित बाना,सयूक्त सचिव विकास सेवग,अशोक गोदारा,दीक्षान्त गोदारा,कन्हैयालाल जाख़ड,देवाशीश कौशिक,सुनील जाखड,लकी चौधरी,जयपाल चौधरी,महावीर सेन,मोहित चारण,दीपक खुडिया,गजेंद्र आचार्य सहित सैकड़ों विद्यार्थी उपस्तिथ थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.