अज्ञात वाहन ने बाइक सवार भाईयों को मारी टक्कर,एक की मौत

तहलका न्यूज,बीकानेर। जिले के श्रीडूंगरगढ़ थानान्तर्गत एक अज्ञात वाहन ने मोटरसाइकिल को टक्कर मार दी। इस हादसे में एक जने की मौत हो गई। जबकि एक अन्य घायल हो गया। जानकारी मिली है कि वार्ड संख्या दो में रहने वाले रामप्रताप नायक ने पर लूणकरनसर के रामपुरिया गांव में रहने वाली अपनी बहन से मिलने जा रहा था। इसी दौरान एक वाहन ने टक्कर मारी, जिससे बाइक पर सवार रामप्रताप और उसका चचेरा भाई महेंद्र गंभीर घायल हो गए। रामप्रताप के सिर में चोट लगने से मौत हो गई जबकि महेंद्र को पीबीएम अस्पताल रैफर किया गया। बाइक सवार को टक्कर मारने के बाद वाहन चालक वहां रुका नहीं। दोनों भाई सड़क पर ही तडफ़ते रहे, बाद में एक की मौत हो गई। राहगीरों ने रास्ते में लाश पड़ी देखकर गाड़ी रोकी और घायल को अस्पताल पहुंचाया। पुलिस ने अज्ञात वाहन चालक के खिलाफ मामला दर्ज करके जांच है। शुरू की।
अगर हेलमेट पहना होता तो बच जाती जान
पुलिस के अनुसार तीन चार पहले ही रामप्रताप ने नई बाइक खरीदी थी और दोनों भाई मोटरसाइकिल पर लूणकरणसर रवाना हुए। लेकिन रामप्रताप ने हेलमेट पहनने की बजाय मोटरसाइकिल पर टांग लिया। अगर हेलमेट टांगने के बजाय रामप्रताप के सिर पर लगा होता तो उसकी जान बच सकती थी। वो बाइक से सीधे सड़क पर सिर के बल गिरा। जिससे उसकी मौत हो गई।रामप्रताप और महेंद्र दोनों चचेरे भाई थे। रामप्रताप महेंद्र के साथ बहन से मिलकर आज ही वापस लौटना चाहता था, इसलिए अपनी नई बाइक पर रवाना हुए। रास्ते में जिस वाहन ने टक्कर मारी, उसने गाड़ी भी नहीं रोकी। समय पर अगर अस्पताल पहुंचाया जाता तो उसकी जान बच सकती थी।
डेढ़ साल पहले ही हुई थी शादी
मृतक राम प्रताप की शादी करीब एक डेढ़ साल पहले हुई थी। वो महज 21 साल का था और उसकी बेटी 11 महीने की है। उसके घायल भाई महेंद्र की हालत भी गंभीर बनी हुई है। उसे बीकानेर रैफर किया गया है। जिस बहन के घर रामप्रताप जा रहा था, वो भी उसके चाचा की बेटी है। घटना की जानकारी मिलने के बाद से मातम छाया हुआ है। ये परिवार साथ रहता है और घटना के बाद सभी के घरों में मातम है। अब महेंद्र को बचाने के लिए प्रयास चल रहे हैं।


Leave a Reply

Your email address will not be published.