महापौर को लेकर महिला आयोग अध्यक्ष ने ये कही ये बात

तहलका न्यूज,बीकानेर। बीकानेर। महिला आयोग की अध्यक्ष रेहाना रियाज दो दिवसीय बीकानेर के दौरे पर है। इस दौरान रियाज ने अनेक कार्यक्रमों में शिरकत की है। पत्रकारों से मुखातिब होते हुए महिला आयोग अध्यक्ष रेहाना ने कहा कि आयोग महिला उत्पीडऩ से संबंधित आई सभी फरियाद को गंभीरता से ले रही है और उसके त्वरित निस्तारण के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दे रही है। उन्होंने मंत्री पुत्र रोहित जोशी के मामले में सवाल का जवाब देते हुए कहा कि आरोपी चाहे कोई भी जब आरोप साबित हो जाए तो उसे भी कानून के नियमों के तहत सख्त से सख्त सजा देनी चाहिए। रियाज ने कहा कि केवल आरोप लगने से कोई व्यक्ति अपराधी साबित नहीं हो जाता है क्योंकि वो भी समाज का ही एक हिस्सा है,हालांकि इस दौरान रियाज ने ना तो मंत्री का नाम नहीं और ना ही उसके बेटे रोहित जोशी का। रियाज ने कहा कि महिला आयोग के समक्ष यह मामला जब आया तो आयोग ने अपने स्तर पर पत्राचार की तैयारी कर ली थी लेकिन सूचना मिली की मामला दिल्ली पुलिस के पास ही रहेगा तो हमने पत्राचार नहीं किया। रियाज ने कहा कि बीकानेर में सुनवाई के दौरान 20 मामले आएं है। जिसमें अधिकांश महिला उत्पीडऩ व प्रताडऩा के है। जिस पर संज्ञान लिया जा रहा है। इस दौरान जिला कलक्टर भगवती प्रसाद कलाल, महिला आयोग सदस्य अंजना मेघवाल, आयोग के सदस्य सचिव सत्येद्र पाल सिंह, रजिस्ट्रार अजय शुक्ला सहित विभिन्न जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।
महापौर शिकायत तो करें,होगी उनकी भी सुनवाई
इस दौरान नगर निगम में अधिकारियों द्वारा सुनवाई नहीं होने से पीडि़त महापौर के बारे में पूछे गये प्रश्न पर महिला आयोग अध्यक्ष ने कहा कि महापौर को आयोग के समक्ष अपनी शिकायत तो करें। उनकी भी शिकायत का निस्तारण किया जाएगा। यहीं नहीं कार्यालयों में काम करने वाली महिलाओं के साथ होने वाले उत्पीडऩ मामलों पर भी आयोग के गंभीरता की बात कही। इस दौरान कृषि विवि और तकनीकी विवि के कुलपतियों पर शोषण के मामलों की जांच करवाने की बात रियाज ने कही।

Leave a Reply

Your email address will not be published.