यहां से उल्टा पांव लौटा निगम का दस्ता,झेलना पड़ा विरोध

तहलका न्यूज,बीकानेर। शहर में संभागीय आयुक्त नीरज के पवन कें निर्देश पर शहर में यातायात व्यवस्था को सुचारू करने के लिए चलाएं जा रहे अतिक्रमण हटाओ अभियान के तहत आज निगम दस्ते को विरोध का सामना करना पड़ा। जिसके चलते निगम दस्ते को उल्टे पांव वापस लौटना पड़ा। बताया जा रहा है कि नगर निगम के अतिक्रमण रोधी टीम आज तुलसी कुटीर गौशाला पर पहुंची जहां पर विरोध के बावजूद गौशाला पर पीला पंजा चलाया गया।इस दौरान गौशाला प्रबंधक का उनके द्वारा किए गए निर्माण पर स्टे की बात कही गई। लेकिन निगम आयुक्त ने किसी की भी नहीं सुनी और गौशाला की चारदीवारी को ध्वस्त कर दिया। बाद में आमजन के विरोध को देखते हुए निगम निगम कर्मियों को उल्टे पांव लौटना पड़ा।वही गौशाला संचालक सूरजमल सिंह नीमराणा निगम की कार्यवाही का विरोध जताते हुए कहा कि अधिकारी तुष्टीकरण को लेकर यह कार्रवाई कर रहे हैं जबकि माननीय न्यायालय द्वारा गौशाला को लेकर दिए गए निर्णय में यथास्थिति रखने का आदेश दिया गया है। गलत तरीके से तोड़ी जा रही गौशाला को रोकने के लिए विश्व हिंदू परिषद के पदाधिकारी मौके पर पहुंचे और कार्रवाई को रुकवाया। तुलसी सर्किल पर गौशाला संचालित हो रही है। इस सम्बंध में गौरक्षक सूरजमाल सिंह नीमराणा ने निगम के खिलाफ कार्रवाई करने और आवश्यकता पडऩे पर धरने की चेतावनी दी है।
स्टे के बावजूद कार्यवाही पर बिगड़ा माहौल,नहीं सुनते आयुक्त
नीमराणा ने कहा कि स्टे की बात आयुक्त को कही गई थी। लेकिन आयुक्त किसी की नहीं सुनते है और सीधे ही तोडफ़ोड़ करते है। जो सही नहीं है। आयुक्त को बता दिया गया था कि उक्त भूमि पर दो पक्षों में विवाद चल रहा है। जिस पर न्यायालय ने वर्ष 2019 में आगामी किसी भी तरह के निर्माण के लिए स्टे दिया गया था। ऐसे में न्यायालय के स्टे के निर्णय के खिलाफ जाकर कोई भी कार्रवाई करना न्यायालय की अवमानना है। नीमराणा ने कहा कि हम सबसे पहले न्यायालय के सामने इस मामले को पेश करेंगे और निगम के खिलाफ कार्रवाई के लिए कहेंगे। साथ ही नीमराणा ने कहा कि जरूररत पड़ी तो वो आज से ही धरने पर बैठेगें।इस दौरान दीवार तोडऩे को लेकर भाजपा नेता पंकज गहलोत की भी प्रशासन के अधिकारियों के साथ तीखी नोक झोंक हुई। गहलेात ने कहा कि स्टे के बाद भी गाय माता की जमीन को तोड़ा जा रहा है वहीं दूसरी और लोग बेझिझक सरकारी जमीनों का दुरूपयोग कर प्रशासन को खुली चुनौती दे रहे है। जिस पर प्रशासन मौन साधे बैठा है। गहलोत ने कहा गौशाला से जुड़े मामले में हर दम गाय माता के लिए तैयार है ओर जरूरत पड़ी तो रणनीति बनाकर इसका विरोध भी किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.