इस कॉलेज में इतने मतदाता डालेंगे वोट,देखे लेखा-जोखा

चुनावी तैयारी में डूबे छात्र, चल रहे संपर्क के दौर, छात्रों ने किया शक्ति प्रदर्शन
जयनारायण बिस्सा
तहलका न्यूज,बीकानेर। छात्रसंघ चुनाव की रणभेरी बज चुकी है। इसके साथ ही विश्वविद्यालयों, महाविद्यालयों में चुनावी सरगर्मियों में भी तेजी आ गई है। विभिन्न छात्रों और छात्र संगठनों में चुनाव का उत्साह चरम पर है। महाविद्यालयों में पढ़ाई के स्थान पर चुनाव लडऩे वाले संगठनों और प्रत्याशियों की ही चर्चा चल रही है। हालात यह है कि पहले चलती कक्षाओं में भी हाजिर नहीं होने वाले छात्र अब अवकाश के दिनों में भी महाविद्यालयों में डेरा डाले हुए है। सुबह जल्दी आना और दिनभर चुनाव की चर्चा में समय व्यतीत करने के साथ अपने साथी का चुनाव प्रचार करने से नहीं चूक रहे। जानकार मिलते के साथ ही ‘अरे यार अपाणे भायले रो ध्यान राखणो है, अर सागला ने केर वोट डलवाणो हैÓ की मनुहार कर रहे हैं। इसके अलावा खुणा राजनीति में एक दूसरे के प्रत्याशियों को अन्दरखाने से समर्थन दिलाने के कार्य भी शुरू हो गए हैं। वहीं कुछ छात्र नेताओं ने छात्रों के घरों तक पकड़ बनाने का कार्य शुरू कर दिया है। घरों में जाकर जनसम्पर्क करने और पार्टी प्रत्याशी को विजयी बनाने के लिए समर्थन देने की मांग की जाने लगी है।
कॉलेजों में दिखने लगी रंगत
शहर के राजकीय कॉलेजों में छात्रसंघ चुनावों का माहौल गर्माने लगा है। कॉलेजों में छात्रसंघ चुनावों के विभिन्न पदों के संभावित व घोषित प्रत्याशी प्रचार-प्रसार में जुट गए हैं। छात्रसंघ चुनावों की रंगत कॉलेजों के इर्द-गिर्द खूब नजर आने लगी है। इस समय शहर के महाराज गंगासिंह विश्वविद्यालय,डूंगर कॉलेज,एम.एस. कॉलेज,रामपुरिया कॉलेज,नेहरू शारदा पीठ,जैन पी.जी. कॉलेज,जैन कन्या कॉलेज,राजकीय विद्यि कॉलेज,बेसिक पी जी कॉलेज में छात्रसंघ चुनावों का माहौल सबसे अधिक गर्म है। वहीं बिन्नाणी कन्या कॉलेज,सिस्टर निवेदिता कॉलेज,बोथरा गल्र्स कॉलेज,रामपुरिया लॉ कॉलेज कॉलेजों में चुनावी सरगर्मी वैसे देखने को नहीं मिल रही। जैसी अन्य कॉलेजों में दिख रही है। संभावित प्रत्याशी अपने पोस्टर, बैनर व कार्ड के जरिए प्रचार- प्रसार कर रहे हैं। दिन भर क ॉलेजों में छात्रों से मिलना, वोट मांगना और समर्थन में आगे आकर प्रचार- प्रसार करने के लिए रूठने-मनाने का दौर शुरू हो गया है। वैसे भी अब छात्रसंघ चुनावों में अधिक समय नहीं बचा है।
यहां इतने है मतदाता
गुरूवार को सभी कॉलेजों में मतदाता सूची का प्रकाशन कर दिया गया है। बीकानेर विवि में 906,डंूगर महाविद्यालय में 9130,रामपुरिया महाविद्यालय में 492,महारानी महाविद्यालय में 3553,,बेसिक पी जी कॉलेज में 626,जैन कन्या महाविद्यालय में 510,जैन पीजी महाविद्यालय में 214,बिन्नानी महाविद्यालय में 189,नेहरू शारदापीठ महाविद्यालय में 80 मतदाता मताधिकार का प्रयोग करेंगे। 19 अगस्त को आपतियां ली जाएगी तथा 20 अगस्त को मतदाता सूची प्रकाशित कर कॉलेजों में चश्पा कर दी जाएगी। इसी तरह उम्मीदवार सोमवार 22 अगस्त से अपना नामांकन पत्र दोपहर तीन बजे तक दाखिल कर पाएंगे। इनकी जांच व आपति इसी दिन लेने के साथ ही 23 अगस्त को नामांकन सूची का प्रकाशन किया जाएगा। 23 अगस्त को ही दोपहर दो बजे तक उम्मीदवार अपना नाम वापस ले सकेंगे। मतदान 26 अगस्त को सुबह 8 बजे से दोपहर एक बजे तक तथा मतगणना 27 अगस्त को होगी। जिसके बाद तुरंत शपथ दिलवाई जाएगी।
ढोल-ढमाकों से करेंगे नामांकन
छात्रसंघ चुनाव के लिए प्रत्याशी 22 अगस्त को सुबह 10 से अपराह्न 3 बजे तक ढोल-ढमाकों के साथ नामांकन करेंगे। इसी दिन 3 से शाम 5 बजे तक प्रत्याशियों के नामांकन पत्र की जांच और आपत्तियां ली जाएंगी। इसके आधार पर प्रत्याशियों की वैध नामांकन सूची 23 अगस्त को सुबह 10 बजे जारी होगी। इसी दिन सुबह 11 से दोपहर 2 बजे तक प्रत्याशी वापस नाम ले सकेंगे। अंतिम नामांकन सूची दोपहर 2 से शाम 5 बजे जारी होगी।
मतपेटियों की कड़ी सुरक्षा
अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, महासचिव और संयुक्त सचिव पद के लिए मतदान 26 अगस्त को सुबह 8 से दोपहर 1 बजे तक होगा। इसके बाद मतदाता पेटियों को पुलिस थानों अथवा कॉलेज परिसर में कड़ी सुरक्षा के बीच रखा जाएगा। 27 अगस्त को सुबह 11 बजे मतगणना शुरू होगी। इसके बाद नवनिर्वाचित पदाधिकारियों को शपथ दिलाई जाएगी।
लगे हुए हैं पोस्टर-होर्डिंग
जिला प्रशासन और पुलिस की पाबंदी के बावजूद शहर में छात्र नेताओं के पोस्टर, होर्डिंग लगे हुए हैं। जिसको लेकर प्रशासन का ध्यान इस ओर गया ही नहीं। न तो प्रशासन ने इसकी विडियोग्राफी करवाई और न ही इन पोस्टरों को हटाने की हिदायत चुनाव लड़ रहे नेताओं क ो दी। नतीजन कई स्थानों पर होर्डिंग और पोस्टर चिपके देखे जा सकते हैं।
छात्रनेता टिकट के लिए बिछाने लगे बिसात
छात्रसंघ चुनाव की तिथि आने के साथ ही छात्रनेता टिकट की दावेदारी के लिए बिसात बिछाने लगे है। वहीं छात्रसंगठन एबीवीपी और एनएसयूआई ने भी टिकट दावेदारों में से जिताऊ उम्मीदवारों पर मंथन करना शुरू कर दिया है।तीन महीने बाद विधानासभा चुनावों को देखते हुए छात्रसंघ चुनाव का मुकाबला अधिक रोचक रहेंगा। इस बार छात्रसंघ चुनावों पर भाजपा और कांग्रेस दोनों का पूरी तरह से फोकस रहेगा। इस लिहाज से भी छात्रसंघ चुनाव अधिक रोचक होने वाला है और इसका सीधा-सीधा विधानसभा चुनावों पर भी असर देखा जाएगा।
दोनों दल जल्दी करेंगे उम्मीदवरों का ऐलान
दोनो ही दल जिताऊ उम्मीदवार तय करने में लगे हुए हैं। इसको लेकर संगठन के हर स्तर पर चर्चा की जा रही है और कार्यकर्ताओं का मन टटोला जा रहा है। इसके बाद ही टिकटों का वितरण किया जाएगा। उम्मीदवारों के ऐलान को लेकर पूर्व अध्यक्षों से भी वार्ता की जा रही है। इसकों लेकर दावेदारों को आईकार्ड के साथ छात्रों की मीटिंग रखी है। जो सबसे ज्यादा आईकार्ड के साथ छात्र लेकर आएगा,उसकी मजबूती अधिक रहेगी। वहीं एबीवीपी भी संगठन पूर्व कार्यकर्ताओं को बुलाकर राय जान रही है। दोनों ही संगठन 20 अगस्त तक उम्मीदवारों का ऐलान करने का दावा कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.