29 अप्रेल से शनि बदलेंगे राशि, इन राशि वालों को रहना होगा बहुत सावधान

तहलका न्यूज,बीकानेर। शनि का राशि परिवर्तन 29 अप्रेल को होगा। इस दिन शनि मकर राशि को छोड़कर कुंभ राशि में प्रवेश कर जाएंगे। इस राशि में शनि 30 साल बाद वापस आ रहे हैं। एक राशि में शनि ढाई साल तक रहते हैं। पंडित सूरजरतन व्यास ने बताया कि वर्तमान में शनि मकर राशि में गोचर कर रहे हैं। उसके बाद शनि देव कुंभ राशि में चले जाएंगे। शनि मकर और कंभ दोनों राशि के स्वामी हैं। ये उनकी स्वराशि है। अर्थात वे अपने एक घर से दूसरे घर में जा रहे हैं। व्यास का कहना है कि सूर्य पुत्र शनि के गोचर से कई राशियों के जातकों का जीवन प्रभावित होने वाला है। इस दौरान दो राशि वालों को खास रूप से सावधान रहने की जरूरत है।
ढाई साल की होती है शनि की ढैय्या की अवधि
शनि के राशि परिवर्तन के बाद शनि की साढे साती और ढैय्या दोनों लोगों का जीवन प्रभावित करेंगी। शनि की साढे साती की अवधि जहां साढ़े सात साल तक रहती है तो वहीं शनि की ढैय्या की अवधि ढाई साल की होती है। शनि के राशि परिवर्तन करते ही दो राशियों को शनि की ढैय्या से मुक्ति मिल जाएगी तो दो राशियां इसके प्रभाव में आ जाएंगी। शनि के राशि बदलते ही मिथुन और तुला राशि के जातकों को शनि की ढैय्या से मुक्ति मिल जाएगी।
इन तीन राशि वालों को रहना होगा सावधान
इस राशि परिवर्तन के बाद कर्क और वृश्चिक राशि वालों पर ढाई साल की दशा शुरू हो जाएगी। साथ ही मीन राशि वालों पर साढ़े साती आरंभ हो जाएगी। धनु राशि वालों को इससे मुक्ति मिल जाएगी। कर्क, वृश्चिक और मीन राशि राशि वाले जातकों को सावधानी के साथ रहना चाहिए।
ऐसा करें
हनुमानजी के सिंदूर का चोला चढ़ाकर हनुमान चालीसा का पाठ करें।
शनिवार को पीपल के पेड़ के नीचे सरसों के तेल का दीपल जलाएं।


Leave a Reply

Your email address will not be published.