केसरिया रंग ऋषि-मुनियों संत महात्माओं का प्रतीक

खारड़ा। रविवार को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की ओर से गुरु दक्षिणा कार्यक्रम स्थानीय शिव शक्ति पब्लिक स्कूल खारड़ा के प्रांगण में हुआ। कार्यक्रम में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्वयंसेवकों ने अपने समर्पण भाव को दिखाते हुए यथाशक्ति यथा भक्ति के अनुसार भगवा ध्वज को गुरु मानते हुए गुरु दक्षिणा किया। स्वयंसेवकों ने भगवा ध्वज के सामने पुष्प अर्पित कर गुरु पूजन भी की। कार्यक्रम में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ बीकानेर जिला के जिला कार्यवाह कर्मवीर नेहरा ने गुरु दक्षिणा के बारे में बताते हुए कहा कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने भगवा ध्वज को अपना गुरु माना। इसके पीछे संघ के संस्थापक डा केशव बलिराम हेडगेवार के वक्तव्य को उन्होंने रखा। बताया कि भगवा ध्वज को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का गुरु इसलिए माना गया क्योंकि भगवा रंग यथार्थ, सच्चाई का प्रतीक है। केसरिया रंग ऋषि-मुनियों संत महात्माओं का प्रतीक है। उगते हुए सूर्य का रंग का प्रतीक है। सभी मानव की निष्ठा और सत्यता एक समान नहीं होती है, व्यक्ति परिवर्तन होने पर समय के साथ उनका मन कभी भी परिवर्तित हो सकता है, इसलिए संघ ने भगवा ध्वज को गुरु मानते हुए संघ की विधि व्यवस्था को बनाए रखने के लिए भगवा ध्वज के सामने स्वयंसेवक गुरु दक्षिणा करते हैं। कार्यक्रम में मौके पर शेरेरा उपखंड के खंड कार्यवाह दामोदर सारस्वत , पवन सारस्वत, बनवासी सारस्वत,मनोज शर्मा,अशोक प्रजापत,श्याम सुंदर सारस्वत ,जितेंद्र कुमार सारस्वत(बन्ना) कृष्ण सारस्वत आदि उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.