गंगा सप्तमी पर आस्था और उल्लास के साथ निकाली शोभायात्रा

सचेतन झांकियां भी की गई शामिल
श्री जटिया पंचायत और रथखाना कॉलोनी के बाशिन्दें हुए शामिल
तहलका न्यूज,बीकानेर। शहर में गंगा सप्तमी पर अनेक धार्मिक अनुष्ठान किये जा रहे है। जिसके चलते गंगा मंदिरों में पूजन कीर्तन व सत्संग का आयोजन हुआ।श्री जटिया पंचायत और रथखाना कॉलोनी में रहने वाले लोगों ने आज गंगा सप्तमी पर वरसो महोत्सव मनाया। महोत्सव के पहले दिन यानि शनिवार को शोभायात्रा निकाली गई। वहीं दूसरे दिन हवन, भंडारा आदि आयोजन किए गए।श्री जटिया पंचायत के अध्यक्ष झूमरलाल मोर्य और उपाध्यक्ष लक्ष्मीनारायण खन्नावलिया ने बताया कि वरसो महोत्सव के पहले दिन शनिवार शाम को रथखाना कॉलोनी स्थित गंगा मैया मंदिर से शोभायात्रा निकाली गई। इस शोभायात्रा में भगवान शिव, गणेश, माता भगवती आदि की सचेतन झांकियां भी शामिल की गई। रथखाना कॉलोनी से शुरू हुई ये शोभायात्रा जूनागढ़ सहित शहर के मुख्य बाजार से होते हुए वापिस गंगा मैया मंदिर पहुंच कर संपन्न हुई। शोभायात्रा में काफी तादाद में महिलाएं, बच्चे व पुरूष शामिल रहे। इसके बाद गंगा मैया मंदिर में जागरण का आयोजन किया गया।पंचायत के महामंत्री राजेश मोलपुरिया व सचिव लेखराज खन्नावलिया ने बताया कि महोत्सव के दूसरे दिन रविवार को शाम चार बजे हवन का आयोजन किया गया। जिसमें बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने मंत्रोच्चार करते हुए आहुतियां दीं। इसके बाद शाम को भंडारे का आयोजन भी किया गया। वरसो महोत्सव में श्री जटिया पंचायत के अशोक खन्नावलिया, सोहनलाल तुनगरिया, जगदीश तिगाया, सुरेश कुडिया, ठाकुर जाटोलिया, रोशनलाल खन्नावलिया, जयदीप तिगाया, अमित धोलपुरिया, मनीष मोर्य, विक्रम खन्ना, दीपक खन्ना, उत्तमचंद खन्नावलिया, सोनू जाटिोलिया, जोन सोनीवाल, चन्दन तिगाया, सुनील तुनगारिया, अशोक मडोतिया, राजू सोनीवाल, मनोज खन्नावलिया व राहुल जाटोलिया सहित कई कार्यकर्ताओं ने सेवा कार्य किया। गंगा मैया का प्राचीन मंदिर नया कुआ पर पंडित मुकेश महाराज की ओर से मां गंगा का रुद्राभिषेक, आरती के पश्चात पंजरी पंचामृत वितरित कि ए गये। मंदिर के बाहर मां गंगा की कथा का आयोजन किया गया। कथा के रूप में संपूर्ण सार पंडित कथावाचक भवानी शंकर उपाध्याय द्वारा की गई। जिसमें मां गंगा के जन्म से लेकर इस भारतवर्ष में किस प्रकार किस युग में किस भगत के उधार से इस भारतवर्ष में पधारी पर विस्तार से प्रवचन दिएं। कथा समापन के बाद पंचामृत का वितरण कर महिलाओं की ओर से सत्संग किया गया। इस मौके पर सोहनलाल उपाध्याय, कैलाश उपाध्य ,दिनेश कुमार, राकेश महाराज, राजा भादाणी , विकी भादाणी , ऋषि राज, मनोज कुमार, बजरंग सिंह ,कुलदीप, रोहन मराठा, बाबू महाराज ,बली महाराज ,भैरूरतन ,कालू नाथ, प्रताप नाथ ,गणेश उपाध्याय ,जेपी महाराज ने सहयोग किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.