प्रवेश के लिये निकालनी होगी प्रभात फेरी, गाइडलाइन जारी

तहलका न्यूज,बीकानेर।राज्य के सरकारी स्कूलों में शतप्रतिशत नामांकन करने के साथ ही अनामांकित और ड्रॉप आउट बच्चों को शिक्षा से जोडऩे के लिए प्रवेशेात्सव के पहले चरण की शुरुआत होने जा रही है। इस दौरान शिक्षक घर घर जाकर जाकर सर्वे करेंगे और बच्चों को स्कूल से जोडऩे का काम करेंगे। 15 जुलाई तक चलने वाले इस अभियान के तहत हर गांव/ ढाणी में कम से कम दो बार प्रभात फेरी निकाली जाएगी और सर्वे के जरिए बस स्टैंड, निर्माणाधीन भवन, गांव के बाहर की छोटी बस्ती, ढाणी, मजरा, खेत पर रहने वाले परिवार, मौसमी पलायन, कोविड के कारण प्रवासी मजदूरों के परिवार को शामिल कर उनके बच्चों को चिह्नित किया जाएगा। सर्वे में चिह्नित 3 से 18 साल तक के बच्चों को आंगनबाडिय़ों, स्कूलों, स्टेट ओपन, पत्राचार कोर्स या अन्य शैक्षिक संस्थानों से आयु के अनुरूप कक्षाओं में जोड़ा जाएगा। 5 साल या इससे अधिक आयु के बच्चों का स्कूल में नामांकन करवाना होगा। नामांकित बच्चों को पाठ्यपुस्तकें निशुल्क दी जाएंगी। प्रवेशोत्सव में पहली बार स्कूल में एडमिशन लेने वाले बच्चों का स्वागत किया जाएगा। ड्रॉप आउट बच्चों को स्कूल से जोडऩे में क्षेत्र की महिला कार्यकर्ता, जनप्रतिनिधियों की मदद ली जा सकेगी।स्कूल में नामांकन बढ़ाने के लिए बोर्ड परीक्षा में सर्वोच्च स्थान प्राप्त करने वाले स्टूडेंट्स की फोटो स्कूल में लगाई जाएगी। इसके लिये चार चरण चलाएं जाएंगे। 30 जून तक पहला चरण होगा। जिसमें बच्चों का चिन्हिकरण किया जाएगा। दूसरा चरण में नामांकन अभियान होगा। जो एक जुलाई से 16 जुलाई तक होगा। शेष रहे बच्चों का चिन्हिकरण 24 से 31 जुलाई तक किया जाएगा। फिर एक से 16 अगस्त तक नामांकन किया जा सकेगा।
इनको दिया जाएगा तुरंत प्रवेश
– प्रवासी श्रमिक पैरेंट्स के साथ आने वाले बच्चों को किसी भी पहचान पत्र के आधार पर तुरंत प्रवेश दिया जाएगा।
– उन्हें अन्य किसी प्रकार के दस्तावेज जैसे पूर्व की कक्षा का प्रमाण, तबादला प्रमाणपत्र आदि।
– 10वीं और 12वीं कक्षा में एडमिशन लेने वाले से शपथ पत्र लिया जाएगा कि वह बोर्ड परीक्षा के लिए आवेदन करते समय आवश्यक दस्तावेज उपलब्ध करवाएं जिससे वह परीक्षा में शामिल हो सकें।
इन पर रहेगा विशेष फोकस
– ऐसे बच्चे जो वर्तमान स्कूल वाले स्थान से अपने पैरेंट्स के साथ कहीं और चले गए हैं उनका नाम नामांकन पंजिका से नहीं हटाया जाएगा
– ऐसे बच्चों के नाम नामांकन सूची में अलग से लिखे जाएंगे। उसके सामने अस्थाई अनुपस्थित या कोविड के कारण माइग्रेशन लिख जाएगा।
– सर्वे में चिह्नित बच्चों की सूचना शाला दर्पण पोर्टल पर उपलब्ध मॉड्यूल में अपलोड करनी होगी।
यह रहेगा प्रवेशोत्सव का शेड्यूल
हाउस होल्ड सर्वे/ बच्चों का चिह्निकरण- 24 जून से 30 जून 2022 तक
नामांकन अभियान- एक जुलाई से 16 जुलाई 2022 तक
प्रवेशोत्सव का दूसरा चरण
शेष रहे बच्चों के चिह्निकरण के लिए फिर से हाउस होल्ड सर्वे- 24 जुलाई से 31 जुलाई 2022 तक
नामांकन अभियान- एक अगस्त से 16 अगस्त 2022 तक

Leave a Reply

Your email address will not be published.