झंवर ने खोला मोर्चा,आज देंगे धरना,ये है मुख्य मांगे

तहलका न्यूज,बीकानेर। नोखा में बिजली विभाग द्वारा लगातार हो रही अघोषित बिजली कटौती एवं बिजली फाल्ट को सही करने में होने वाली अनियमितता को लेकर पालिका अध्यक्ष नारायण झँवर के नेतृत्व में गुरुवार से एसडीएम कार्यालय के आगे आमरन अनशन किया जाएगा। पालिका अध्यक्ष नारायण झंवर ने बताया कि 19 जुलाई को एसडीएम को ज्ञापन सौंपकर विधुत समस्याओं का निस्तारण करवाकर आमजन को राहत दिलाने की मांग की थी। अन्यथा नोखा नगरपालिका अध्यक्ष के नेतृत्व में पालिका के पार्षदगण व जनप्रतिनिधियों द्वारा 4 अगस्त से आमरन अनशन करने की चेतावनी दी गई थी। समस्या के समाधान नहीं होने पर गुरुवार से आमरन अनशन शुरू किया जाएगा। जिसमें जनप्रतिनिधियों व पार्षदों के साथ भारी संख्या में उपभोक्ता व क्षेत्रवासी शामिल होगें।

ये है 10 सूत्री मांगे:- नोखा शहरी क्षेत्र दो भागों रेलवे लाईन के पूर्वी तरफ एवं रेलवे लाइन के पश्चिमा तरफ बंटा हुआ है, जिसमें से एक क्षेत्र में यदि फाल्ट आने पर सभी क्षेत्र की लाईट की कटौति की जाती है जो दिनभर में लगभग 25-30 बार कटौति की जा रही है। चुंकि विभाग द्वारा जियो स्वीच लगाये गये है लेकिन उनका रख रखाव नही होने के कारण उनकी कोई उपयोगिता नहीं हो रही है, जिससे आम नागरिकों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। नोखा शहरी क्षेत्र के जीएसएस से ग्रामीण क्षेत्र का फीडर अलग किया जाए।

2. नागौर रोड़ से लेकर रोड़ा तक हाईटेंशन घरों के ऊपर से गुजर रही है जिससे दुर्घटनाओं की संभावना बनी रहती है तथा वर्तमान प्रशासन शहरों के संग अभियान 2021 के अन्तर्गत जो पट्टे जारी किये जा रहे है, उक्त अभियान के तहत भी निवासीयों को हाईटेंशन लाईन की वजह से पट्टे जारी नहीं हो पा रहे है। जबकि उक्त लाईन की अण्डरग्राउण्ड केबलिंग होने से कोई उपयोगिता नही है। उक्त लाईन को हटाया जाये।

3. नोखा शहर की पीएचईडी विभाग का जो विद्युत फीडर है उसे ग्रामीण फीडर को भी साथ में जोड़ रखा है, ये लाईन पीएचईडी द्वारा डिमाण्ड जमा करवाकर अलग से डलवाई गयी थी, जिसकी वजह से गांवों में फाल्ट होने से विद्युत सप्लायी बन्द कर दी जाती है, जिसके परिणामस्वरूप ट्युबवैल बन्द हो जाते है व पानी की सप्लायी में बाधा उत्पन्न होती है। ये फीडर अलग करवाया जाये।

4. नोखा शहर के विद्युत विभाग कार्यालय में थ्री-फेस मीटर की उपलब्धता नहीं होने के कारण नागरिकों को उक्त कनेक्शन की उपलब्धता नहीं हो रही है। उच्चाधिकारियों को बार-बार अवगत करवाने के उपरान्त भी विभाग द्वारा कोई कार्यवाही नहीं की जा रही है। अतः तुरन्त प्रभाव से थ्री-फेस मीटर उपलब्ध करवाये जाये।

5. नोखा शहरी क्षेत्र में जगह-जगह पर लोहे के पोल लगे हुए है जिससे करंट प्रवाहित होने से आये दिन पशुओं के मरने की घटनायें हो रही है। अभी वर्तमान में प्रशासन शहरों के संग अभियान चल रहा है, इसके अन्तर्गत विद्युत विभाग को अलग से बजट आवंटित किया गया है, विस्तृत कार्य योजना बनाकर प्रति सप्ताह कम से कम 10 लोहे के पोल चिन्हित करके बदलवायें जाये।

6. विद्युत विभाग के कन्ट्रोल रूम के फोन नं . 01531-220050 जो कि सर्वदा नो-रिप्लाई होता है, ड्युटी कर्मचारी को पाबन्द किया जाये, फोन अटेण्ड करके उपभोक्तओं को संतुष्टीप्रद जवाब दिया जावे।

7. राणाराव जीएसएस में लेण्डलाईन कनेक्शन नहीं है, जिसकी वजह से उपभोक्ताओं को परेशानी होती है। उक्त जीएसएस में लेण्डलाईन फोन लगवाये जाये।

8. नोखा नगरपालिका के वार्ड नं . 05 कानपुरा बस्ती में 33 के.वी. की अण्डरग्राउण्ड लाईन तीन फीट गहरी थी, जबकि नियमानुसार छः फीट होनी चाहिए, जिसकी वजह से पानी का कनेक्शन लेते समय उक्त लाईन से करंट प्रवाहित होने से हुई दुर्घटना में एक युवक की मौत हो गई। जिसके लिए लापरवाही बरतने वाले ठेकेदार के विरूद्ध मुकदमा दर्ज करवाकर मृतक के परिजनों  को समुचित मुआवजा दिलाया जावे।

9 यह कि नोखा उपखण्ड के ग्रामीण क्षेत्रों में भी लगातार दिन में 25-30 बार अघोषित कटौति एवं बार-बार फाल्ट होने की वजह से ग्रामीण क्षेत्र की पेयजल व घरेलु व्यवस्थायें बाधित हो रही है।

10. नोखा उपखण्ड क्षेत्र में वर्ष 2021 तक 297 कृषि विद्युत कनेक्शन लम्बित चल रहे है, जिन्हें अविलम्ब जारी किया जावे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.