दा पीस थीम पर आयोजित होगी अंतराष्ट्रीय चित्र प्रदर्शनी

बीकानेर,राजस्थान | रूस और यूक्रने युद्ध के भयावह परिणाम को देखते हुए इटली के वरिष्ठ चित्रकार मास्टर एंजो मारिनो ने दा पीस ( शांति ) शीर्षक से एक अंतराष्ट्रीय चित्र प्रदर्शनी का आयोजन करने बाबत पुरे विश्व भर के कलाकारों/ चित्रकारों से शांति और युद्ध के विरुद्ध विषय पर चित्र कृतियाँ ऑनलाइन आमंत्रित की है | मास्टर एंज़ो मरिनो इटली ने करीब २०० कला कृतियाँ दा पीस चित्र प्रदर्शनी के लिए चयनित की है | जिन्हे कैनवास प्रिंट के बाद इटली के शहर नेपल्स के दा टागिला डी कार्डिटो पार्क में पेड़ों के मध्य प्रदर्शित करेंगे | दा पीस नाम की ये प्रदर्शनी दिनांक २४ अप्रेल २०२२ को आरम्भ होगी जिसमे भारत के कई कलाकारों की कला कृतियां भी शामिल की गयी है | गौरतलब बात ये भी है की भारत के कलाकारों में बीकानेर के कलाकारों का विशेष योगदान रहा है और बीकानेर के कई कलाकारों की कला कृतियां दा पीस कला प्रदर्शनी में शामिल की गयी है | जिसके लिए बीकानेर के चित्रकार मास्टर एंज़ो मरिनो को साधुवाद भी ज्ञापित कर रहे है| बीकानेर के चित्रकारों में मास्टर गोपाल व्यास , मास्टर योगेंद्र कुमार पुरोहित , डॉ. मोना सरदार डूडी, मोहन चौधरी ,मास्टर कमल किशोर जोशी ,मास्टर मुकेश, मास्टर राम भदानी की कृतियां शामिल है| विश्व शांति के लिए बनाये गए चित्रों में मास्टर योगेंद्र कुमार पुरोहित ने युद्ध को मानव परिवार की आत्महत्या जैसा कृत्य दर्शाया है| चित्र में योगेंद्र ने एक सझन व्यक्ति के हाथ दर्शाये है और उन हाथों में से एक हाथ में सेविंग ब्लेड और दूसरा हाथ,हाथ की नसें आगे करता हुआ दर्शाया है|सेविंग ब्लेड पर वॉर ( युद्ध ) शब्द को इंगित किया है|पूरा चित्र आत्महत्या करने जैसी स्थिति को दर्शा रहा हे जो युद्ध में और उसके बाद भी नजर आती है|

Leave a Reply

Your email address will not be published.