मंत्री गोविन्दराम पर आई आपदा में,पुलिस को मिली राहत

तहलका न्यूज,बीकानेर। आपदा प्रबंधन मंत्री गोविन्दराम मेघवाल को धमकी देने वाले युवक का पता चल गया है। खाजूवाला के दस बीडी के निवासी सुनील विश्नोई ने मलेशिया से मेघवाल को वाट्सएप के जरिये धमकी दी। पत्रकारों को जानकारी देते हुए आईजी ओमप्रकाश ने बताया कि सुनील अभी स्टडी वीजा लेकर वहां गया था।उसके साथ उसके तीन अन्य साथि अमन,अमरजीत,राकेश भी गये थे। इनमें से अमन व अमरजीत तो वापस आ गये। सुनील व राकेश वहीं पर सुरक्षा गार्ड की नौकरी कर रहे है। जो बीकानेर में लगातार एक महिला से बार बार फोन पर बातचीत क रते है। उसी महिला व सुनील के परिवारजनों को पूछताछ के लिये बुलाया गया है। आईजी ने बताया कि ये चारों साथी कुछ समय के लिये पंजाब में अपने दो मित्रों के यहां भी रूके थे। उन दोनों साथियों की पहचान कर पूछताछ के लिये एक टीम को रवाना कर दी गई है। पुलिस सुनील का क्रिमिनल रिकार्ड खंगाल रही है। सुनील किसी एस के मीना के नाम के व्यक्ति की सिम को आपरेट कर रहा है। जिसके द्वारा ही उसने मंत्री को धमकी दी है। इसको लेकर पूगल प्रधान गौरव चौहान ने जेएनवीसी थाने में मामला दर्ज किया गया है। धमकी देने वाले ने स्वयं को सौपू गैंग का सदस्य बताया है, जो गैंगस्टर लॉरेंस का है। उसने मंत्री से वॉट्सऐप पर चैट की है, जिसमें परिवार के सदस्यों के फोटो भेजते हुए बताया गया है कि सुरक्षाकर्मी उनके साथ रहते हैं परिवार के साथ नहीं। इसी चैट को जांच का आधार बनाकर पुलिस की साइबर टीम काम कर रही है। धमकी के बाद मंत्री के घर की सुुरक्षा भी बढा दी गई है।
इस तरह बिछाया जाल
पुलिस ने तुरंत कार्रवाई करते हुए इस तरह के पूर्व में दर्ज प्रकरणों के अपराधियों की धरपकड़ के लिये रातभर सर्च अभियान चलाया गया। जिसमें अपराधियों के ठिकानों पर छापेमारी की तथा सूचना प्राप्त करते हुए महत्वपूर्ण तथ्य जुटाये। सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर सोपू ग्रुप से जुड़े संदिग्ध लोगों के बारे में जानकारी जुटाई। धमकी देने वाले इंटरनेशनल कॉल के संबंध में सभी टेलिकॉम कंपनियों से रातोंरात समन्वय कर संपूर्ण जानकारी प्राप्त करते हुए धमकी देकर फिरौती मांगने वाले के अहम सुराग प्राप्त किये तथा उससे जुड़े संदिग्ध लोगों को छत्तरगढ़, खाजुवाला, हनुमानगढ़, श्रीगंगानगर, नागौर व नोखा से दस्तयाब कर गहनता से पूछताछ की गई। पूछताछ में पता चला कि इंटरनेशनल कॉल से धमकी देकर फिरौती मांगने वाले अज्ञात व्यक्ति सुनील कुमार उर्फ सेठी पुत्र हंसराज बिश्नोई निवासी 10 बी.डी. खाजूवाला है जो वर्तमान में मलेशिया में रह रहा है।
आईजी ने बताया कि प्रारंभिक अनुसंधान में सामने आया कि सुनील कुमार उर्फ सेठी द्वारा इंटरनेशनल कॉल का प्रयोग करते हुये मंत्री को धमकी देकर 70 लाख रुपए की फिरौती मांग की गई। पुलिस द्वारा प्रकरण को ट्रेस करने के बाद मलेशिया में बैठे सुनील कुमार को गिरफ्तार करने लिये आगे की कार्रवाई की जा रही है।
यह था प्रकरण
पुलिस के अनुसार 7 जून की शाम 6 बजे एक अज्ञात व्यक्ति ने इंटरनेशनल कॉल के जरिये राजस्थान सरकार के आपदा प्रबंधनएवं सांख्यकी विभाग के मंत्री गोविंदराम मेघवाल के मोबाइल पर फिरौती के लिये जान से मारने की धमकी भरा फोन आया। जिसमें अज्ञात शख्स ने अपने आप को सोपू गैंग लॉरेंस बिश्नोई गैंग का सदस्य बताते हुए मंत्री को फोन कर धमकाया और कहा कि मुझे तुम 70 लाख रुपए नहीं देते हो तो मैं तुम्हें व तुम्हारे परिवार को जिंदा नहीं छोड़ुंगा, मैं तुम्हारे परिवार को जानता हूं।यह धमकी मिलने के बाद गोविंदराम के पुत्र गौरव मेघवाल ने जयनारायण व्यास कॉलोनी पुलिस थाने पहुंचकर मुकदमा दर्ज करवाया।
प्रकरण को ट्रेस आउट करने वाली टीम
रेंज कार्यालय उप अधीक्षक नरेन्द्र पुनिया, जिला विशेष टीम प्रभारी महेन्द्र दत, जेएनवीसी थानाधिकारी महावीर प्रसाद, नोखा थानाधिकारी ईश्वरप्रसाद जांगिड़, खाजुवाला थानाधिकारी अरविंद सिंह, थानाधिकारी छत्तरगढ़ जय कुमार भादू, कोतवाली थानाधिकारी नवनीत कुमार, हैड कांस्टेबल दीपक यादव, साइबर सैल टीम व जिला विशेष टीम के पुलिसकर्मी शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.