अगर आपके बच्चे भी इस्तेमाल करते है फ़ोन तो पढ़े खबर

बीकानेर तहलका। नोखा नगरपालिका की ओर से नोखा नगर के 95वें स्थापना दिवस पर मंगलवार रात्रि को राजकीय भट्टड़ स्कूल में कवि सम्मेलन हुाअ। देर रात तक चले इस कवि सम्मेलन में मशहूर कवि व अभिनेता शैलेश लोढ़ा को सुनने के लिए लोगों का हुजूम उमड़ा। कवि शैलेश ने काव्य पाठ करते हुए कहा कि अगर संस्कृति को बचाना है तो बच्चों के हाथ में मोबाइल नहीं किताब दीजिए। सोशल मीडिया के चलते सहजता, सादगी एवं बंदगी सबकुछ भूल गए हैं।अंग्रेजी के चक्कर में प्रेम प्रदर्शन भूल गए और पति को ‘बेबी’ पुकार रहे हैं। हमारे संस्कार व भाषा को अपनाएं। माता-पिता के लिए कहा कि छत नहीं रहती, दहलीज नहीं रहती, दीवारों दर नहीं रहता, घर में बुजुर्ग ना हो तो घर, घर नहीं रहता। रात करीब तीन बजे तक श्रोताओं ने कवियों के व्यंग्यों, हास्य, वीर रस की कविताओं का लुत्फ उठाया।

रचनाओं से बटोरी दाद
कवि सम्मेलन की शुरुआत वीर रस की कवयित्री कविता चौहान ने मां शारदे की वंदना से की। बेटियों पर कहा जिम्मेदारियों का बोझ परिवार पर पड़ा तो ऑटो रिक्शा, ट्रेन को चलाने लगी बेटियां, वीर की शहादत पर अर्थी को कंधा देकर अब श्मशान तक भी जाने लगी बेटियां, शहीदों पर कहा कि विवादों में उलझकर कीर्तिमा को मत करो धूमिल, शहीदों की करो पूजा हिन्दुस्तान बदलेगा। प्रख्यात कवि विनित चौहान की कविता ये गगन छूता हिमालय भारती की शान है और गंगाजल हमारा मान है ईमान है पर श्रोताओं ने खूब तालियां बजाई।कवि तेजकरण बैचेन ने व्यंग्य करते हुए कहा कि मैंने हिन्दू का चेहरा लगाया तो मुसलमान ने पीटा, मुसलमान का चेहरा लगाया तो हिन्दू ने पीटा, फिर मैंने सिख का चेहरा लगाया तो हिन्दू व मुसलमान ने पीटा, बाद में खूबसुरत स्त्री का चेहरा लगाया तो फिर तीनों ने पीटा। कवि शिम्भू शिखर ने टिप्पणी करते हुए कहा कि मैंने मोदीजी से पूछा आपकी नीयत क्या है, मोदी बोले, पाक-साफ है। गीतकार बाबू बंजारा ने गौरी थारे नथड़ी रो, मोती काई दमके सहित अन्य श्रृंगार रस के गीत सुनाए। कवि बलवंत बल्लू ने संचालन करते हुए काव्य रचनाओं को सुनाकर श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर दिया।

संतों का सानिध्य
कवि सम्मेलन का शुभांरभ अतिथि अतिथि बीकानेर रेंज आईजी ओमप्रकाश, लालासर साथरी के महंत सच्चिदानंद महाराज, रातडिय़ा धोरा के महंत श्यामगिरी महाराज, बीकानेर व्यापार उद्योग मंडल के मुख्य संरक्षक कन्हैया लाल बोथरा, पूर्व संसदीय सचिव कन्हैया लाल झंवर आदि ने संयुक्त रुप से किया। पालिकाध्यक्ष नारायण झंवर, उपाध्यक्ष निर्मल भूरा के नेतृत्व में पार्षदों व प्रबुद्ध लोगों ने अतिथियों का सम्मान किया। श्रीबालाजी सेवा धाम के पीठाधीश्वर अनंत विभूषित महामंडलेश्वर बजरंगदास महाराज भी मौजूद रहे। सीओ भवानी इंदा, सीआइ ईश्वर प्रसाद जांगिड़ के नेतृत्व में पुलिस मुस्तैद रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published.