सरकार की तुष्टिकरण की नीति के खिलाफ हिन्दु संगठन बजाएंगे बिगुल

तहलका न्यूज,बीकानेर। हिंदुओ पर हो रहे अत्याचारों को लेकर विश्व हिंदू परिषद बजरंगदल पूरे राजस्थान में 16 मई को धरना प्रदर्शन करेगा । पत्रकारों को जानकारी देते हुए महानगर अध्यक्ष अनिल शर्मा ने बताया कि राजस्थान में हिंदू आस्था पर लगातार और योजनाबद्ध हमले हो रहे हैं। हि ंदुओं के देवस्थल सुरक्षित नहीं हैं और आम स्त्रियों में भय का वातावरण बन गया है। विश्व हिन्दू परिषद हिन्दू समाज पर हो रहे इन निम्नलिखित आक्रमणों से अत्यधिक परेशान व क्रोधित है इसलिए 16 मई सोमवार को पूरे राजस्थान प्रदेश मे तहसील स्तर तक शांति पूर्ण रूप से धरना प्रदर्शन कि या जाएगा और ज्ञापन दिया जाएगा। यदि राजस्थान सरकार इसके बाद भी कोई प्रभावशाली उपाय नहीं करती है तो विश्व हिन्दू परिषद चुप नहीं बैठेगा ओर बड़ा आंदोलन करेगा। राजस्थान सरकार की तुष्टीकरण व पक्षपाती कार्यवाई के कारण जेहादी मानसिकता वाले तत्वों में उद्दंडता उत्पन्न हुई है जिससे वे अत्यधिक हिंसक हो गए हैं। वे अनैतिक संरक्षण के चलते अब हिंदुओं के त्यौहारों, उत्सवों और समारोहों पर खुलेआम हिंसात्मक आक्रमण कर रहे हैं। बजरंगदल विभाग संयोजक दुर्गा सिंह शेखावत ने बताया कि हनुमानगढ़ के नोहर में हिंदू मंदिर में जाने वाली महिलाओं की, जिहादियों की छेड़छाड़ से सुरक्षा करने वाले हिन्दू युवक पर जेहादियों द्वारा जानलेवा हमला किया गया जिसमें पीडि़त अत्यंत गंभीर हालत में बीकानेर में रैफर किया गया। यहां भी 27 हिंदुओं पर मुकदमे लगाकर मुस्लिमों की उद्दंडता को बढ़ावा दिया गया और हिंदुओं का दमन किया गया कि वे अपनी बहन बेटियों की सुरक्षा करने के लिए भी अधीकृत नहीं हैं।महानगर संरक्षक ने बताया कि इन सभी उदाहरणों से यह स्पष्ट है कि यह सब हिंसा सरकार के अनैतिक संरक्षण के कारण हो रही है। सरकार के मंत्रियों के हिंदुओं पर लगाए गए झूठे आरोपों ने आग में घी का काम किया है। जेहादियों को सरकार के प्रोत्साहन देने से स्थितियां दिन प्रतिदिन भयावह हो रही हैं। महानगर मंत्री विनोद सैन ने बताया की विश्व हिन्दू परिषद हिन्दू समाज पर हो रहे इन निम्नलिखित आक्रमणों से अत्यधिक परेशान व क्रोधित है। प्रेस वार्ता में प्रांत मीडिया प्रमुख चेतन सिंह पंवार,महानगर संरक्षक अशोक पडि़हार,मीडिया प्रभारी कन्हैया लाल आचार्य,बजरंगदल संयोजक सूरज पुरोहित आदि उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.