हाफ़िज़ फैजान उमर होंगे सम्मानित

तहलका न्यूज,बीकानेर। माहे रमजान में जहाँ एक ओर दिन भर भूखे प्यासे रहकर रोजे रखे जाते हैं वहीं इसके साथ ईशा की नमाज के साथ तरावीह का दौर भी जारी रहता है जिसमे हाफिजों के द्वारा कुरान के तीस पारों का पठन कर इबादत की जाती है इस वर्ष माहे रमजान में मोहल्ला चूनगरान में पहली बार मोहल्ले के ही सबसे छोटी उमर के 15 वर्षीय हाफ़िज़ फैजान उमर बेहतरीन अदायगी और शुद्ध लफ्जोच्चारण के साथ तरावीह सुना रहे हैं यह बहुत ही ख़ुशी और सौभाग्य की बात है कि उनके साथ सैंकड़ो लोग इबादत कर रहे हैं। मदरसा सुलेमानिया रहमानिया में अध्ययनरत हाफ़िज़ फैजान उमर की यह पहली तरावीह है जो बीकानेर की बड़ी मस्जिदों में से एक महबूब मस्जिद में तरावीह पढ़ाने का सर्फ़ हासिल हुआ है इस पुरबहार मौके पर हाफ़िज़ फैजान उमर की हौसला अफजाई के लिए मिल्लत इंग्लिश एकेडमी, मदरसा सुल्तान ए हिन्द मदरसा खालिद बिन वालिद, जामिअत उलामा ए हिन्द, बीकानेर, मदरसा सबिलुससलम इत्यादि संस्थाओं द्वारा ईद के तुरंत बाद सम्मान समारोह में सम्मानित किया जाएगा।


Leave a Reply

Your email address will not be published.