शाही लवाजमे से गणगौर की निकली सवारी

तहलका न्यूज,बीकानेर। जूनागढ़ की जनाना ड्योढ़ी से गणगौर की शाही सवारी निकली। शाम को मंदिर पुजारी ने वैदिक मंत्रोच्चार के साथ गणगौर की पूजा अर्चना की। उसके बाद यहां बैंड की धुनों के साथ शाही सवारी निकली। बीकानेर गणगौर समारोह समिति की ओर से आयोजित इस कार्यक्रम में सबसे आगे चल रहे ऊंटों के पीछे रथ व पालकी थे तथा बीच में गणगौर माता की सवारी। यहां से गणगौर की सवारी चौतीना कुआं स्थित गणगौर पार्क पहुंची जहां पानी पिलाने की रस्म अदा की गई। शाही सवारी में बड़ी संख्या में राजपूत समाज के लोगों ने शिरकत की। इस अवसर पर जूनागढ़ के बाहर भरे गणगौर का मेले के लिए दोपहर से ही खिलौने सहित अन्य ़सामानों की अस्थाई दुकानें लगनी शुरू हो गई थी। शाम को गणगौर की सवारी के समय बड़ी संख्या में शहरवासी जूनागढ़ के पास पहुंचे तथा गणगौर माता के दर्शन किए। मेले में बच्चों का विशेष उत्साह रहा।
मां गवराजा के रंगोली बनाकर किया पूजन
शहर में गणगौर पर्व की धूम रही जगह जगह बालिकाओं द्वारा अनेक कार्यक्रम आयोजित किये गये। क्योकि को गणगौर अपने सुसराल चली जायेगी 16 दिन तक गणगौर अपने पीहर में रहती है और तीज के दिन गणगौर अपने सुसराल चल जाती है। इसी को लेकर सोमवार को शहर के डागा प्रोल बड़ाबाजार में छत्त पर बालिकाओं ने प्रात 4 बजे से शाम 4 बजे तक रंगोली बनाई जिसमें हर्षिता (पोनू) टीना ज्योति काजल अंकिता शालू चेतना खुशी कविता मुस्कान नैना सारिका और सिद्ध सभी बालिकाओं ने पूजा की तथा मां गणगौर को खुशी-खुशी विदाई दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.