कल से यहां है श्रीमदभागवत कथा का आयोजन,निकलेगी कलश यात्रा

श्रीमद्भागवत पाक्षिक ज्ञान यज्ञ कथा एवं नवान्ह परायण पाठ का आयोजन 10 सितंबर से

तहलका न्यूज,बीकानेर। धर्म नगरी, छोटी काशी, संतो की तपोभूमि बीकानेर की धरा पर धार्मिक आयोजन निरन्तर होते आए हैं और हो रहे हैं। इसी कड़ी में पितृपक्ष (श्राद्ध) पर एवं शारदीय नवरात्रा में बीकानेर शहर में एक बार फिर विशाल भक्ति की रसधारा प्रवाहित होने जा रही है।  भादवा सुदी पूनम से आसोज बदी  अमावस्या (10 से 25सितंबर तक) सींथल पीठाधीश्वर श्री श्री 1008 महन्त श्री क्षमाराम जी महाराज के श्री  मुख से श्रीमद्भागवत ज्ञान यज्ञ कथा एवं शारदीय नवरात्रा में रामचरित्र मानस का नवाह्न परायण पाठ का आयोजन 26 सितंबर से 4 अक्टूबर तक  गंगाशहर, स्थित गोपेश्वर बस्ती के गोपेश्वर भूतेश्वर महादेव मंदिर प्रांगण में आयोजित की जाएगी। इससे पूर्व कलश यात्रा निकाली जाएगी।
कलश यात्रा का होगा आयोजन
दस सितम्बर शनिवार को सुबह 9.30 बजे नगर सेठ लक्ष्मीनाथ मंदिर से भव्य कलश यात्रा निकाली जाएगी। यह यात्रा लक्ष्मीनाथ मंदिर से आरंभ होकर चूड़ी बाजार से दांती बाजार होते हुए भुजिया बाजार से रांगड़ी चौक, ढ़ढ्ढों का चौक, बागड़ी मोहल्ला, डागों की पिरोल से बड़ा बाजार स्थित घूमचक्कर होते हुए भैरव जी की घाटी से पुन: लक्ष्मीनाथ जी मंदिर पहुंचेगी। इसके बाद वाहनों द्वारा गोपेश्वर बस्ती मार्ग स्थित माली समाज भवन, शिव पार्वती मंदिर पर एकत्रित होकर सभी भक्तगण एक साथ गोपेश्वर भूतेश्वर महादेव मंदिर, कथा स्थल पर पहुंचेगें। जहां कथा का नित्य वाचन दोपहर 12.15 बजे किया जाएगा।
वृहद् स्तर पर चल रही तैयारियां
कथा स्थल पर तैयारियां वृहद् स्तर पर की जा रही है। कथा श्रवण करने वालों के लिए विशाल डोम तैयार किया गया है। जिसे वातानुकूलित करने के लिए पंखे, कूलर, प्रकाश व्यवस्था के लिए लाइट और शीतल जल तथा आवागमन के लिए बसों का प्रबंध समिति की ओर से किया गया है। सभी भक्तगण, श्रद्धालुजन कथा श्रवण का लाभ अच्छी तरह से ले सकें इसके लिए आधुनिक तकनीक के माइक, स्पीकर आदि की व्यवस्था की गई है। इसके अलावा कथा प्रेमी कार्यकर्ताओं के दल अन्य व्यवस्थाओं की तैयारी में दिन-रात जुटे हुए हैं।तीन वर्ष बाद हो रही कथा को लेकर धर्मप्रेमी बंधुओं और माताओं में उत्साह का माहौल है।
इन स्थानों से रहेगी बसों की व्यवस्था
कथा का लाभ बीकानेर शहर और इसके आसपास के क्षेत्रों के धर्मप्रेमी बंधुओ को मिले,इस उद्देश्य से उनके लिए बसों की व्यवस्था की गई है। इसके लिए तीन रूट मेप प्लान बनाए गए हैं। पहले रूट की यह बसें सींथल, नापासर, गाढ़वाला, उदासर गांव से तो श्रद्धालुओं को लाएगी ही, इसके अलावा शहरी क्षेत्र के तिलक नगर, व्यास कॉलोनी, आनन्द आश्रम(रानीबाजार) गोगागेट से भी श्रद्धालुओं को लेकर कथा स्थल पहुंचेगी। दूसरे रूट की बसें जस्सूसर गेट से रवाना होकर नत्थूसर गेट से शीतला गेट होते हुए मोहता सराय से कथा स्थल पर पहुंचेगी। इसी प्रकार तीसरा रूट प्लान के अंतर्गत बस देशनोक से पलाना होते हुए भीनासर से गंगाशहर और फिर वहां से कथा स्थल तक भगवत कथा प्रेमी श्रवणकर्ताओं को लेकर पहुंचेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.