जूनागढ़ के सामने दहाड़ी पूर्व सीएम,क्या बोली,आप भी पढ़े,देखे विडियो

तहलका न्यूज,बीकानेर। भारतीय जनता पार्टी में मुख्यमंत्री चेहरे के लिए चल रही रस्साकस्सी के बीच पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने कहा है कि मेरे जीवन में कुछ भी सीधे सीधे नहीं होता है। संघर्ष करने के बाद ही कुछ मिलता है।राजे ने यह बात जूनागढ़ के सामने आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए कही। पूर्व मुख्यमंत्री ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की सरकार हमला बोलते हुए कहा कि पिछले चार साल में राजस्थान की जनता के साथ विश्वासघात हुआ। जनता ने आपको काम करने के लिए चुना था लेकिन आपने अपनी सरकार को बचाने के लिए, कुर्सी बचाने के लिए ये समय निकाल दिया।राजे ने कहा कि अभी महंगाई चरम सीमा पर है, बिजली के दाम बढ़ते जा रहे है, जो बिजली हमारी सरकार में किसानों को छह घंटे मिला करती थी, वह अब मुश्किल से तीन घंटे मिल रही है, उसमें आप लोग खुश हो जाते हो। भाजपा के नेताओं ने पीछ़े पड़कर पानी समस्या का समाधान करवाया। राजे ने कहा कि भाजपा सरकार ने प्रदेश की सभी सड़के बनवाई, लेकिन वर्तमान सरकार ने उन सड़कों को मरम्मत तक नहीं करवाई। इस सरकार को प्रदेशवासियों से कोई लेना देना नहीं, केवल अपनी कुर्सी बचाने में लगे हुए है। राजे ने कहा कि चुनाव घोषणा पत्र में कांग्रेस ने किसानों का संपूर्ण कर्जा माफ करने की बात कही थी, लेकिन ऐसा हुआ नहीं। राजे ने जनसभा में उमड़े लोगों को पार्टी की पूंजी बताया और कहा कि जब तब आप लोग हमें प्यार देते रहोगे, हम आप पर मरते रहेंगे और यही सबसे बड़ी चीज है। इसके अलावा किसी अन्य चीज की जरूर नहीं रहती, आप यूंही प्यार देते रहेंगे तो हमें ऐसे ही दौड़ते रहेंगे। राजे ने कहा कि सरकारे आती-जाती रहती है, लेकिन यह प्यार ऐसे ही बनाये रखना। इस मौके पर महावीर रांका की ओर से पूर्व मुख्यमंत्री का स्वागत किया गया।
शहर-देहात भाजपा की दूरी
खास बात ये है कि शहर व देहात भाजपा ने इस कार्यक्रम से दूरी बना रखी है। शहर भाजपा अध्यक्ष अखिलेश प्रताप सिंह स्वागत करने देशनोक पहुंचे लेकिन कार्यकारिणी के सदस्य नदारद थे। हेलीपेड पर पुष्प भेंट करने के बाद अखिलेश सिंह भी वहां से निकल गए। हालांकि अप्रत्यक्ष रूप से भाजपा नेताओं ने राजे का स्वागत सत्कार किया।
देशनोक व मुकाम गई
इससे पहले पूर्व सीएम देशनोक व मुकाम पहुंची।राजे विशेष हेलीकॉप्टर से यहां पहुंची और करणी माता मंदिर में करीब आधा घंटे तक विशेष पूजा अर्चना की। इस दौरान उनके साथ बेटे दुष्यंत सिंह भी थे। दर्शन के बाद वो जनसंवाद कार्यक्रम में पहुंची, जहां कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि महाराजा गंगा सिंह करणी सिंह करणी माता का आशीर्वाद लेने आते थे, यहां सफेद चूहा दिखने के बाद ही वो आगे बढ़ते थे। तब उनका काम सफल होता था। आज मुझे भी माता ने आशीर्वाद दे दिया है। जब भगवान का आशीर्वाद मिल जाता है तो कौन है जो रास्ते में खड़ा हो सकता है। देशनोक के बाद राजे हेलीकॉप्टर से मुकाम धाम पहुंची। जहां गुरु जम्भेश्वर महाराज के दर्शन कर सभा को संबोधित किया। यहां राजे की सभा के लिए बड़ा मंच व पांडाल लगाया गया। राजे ने अपना उद्बोधन शुरू करते हुए कहा कि आप सब लोगों से मिलने व दर्शन करने का मौका मिला- इसलिए थैंक्यू बिहारी। राजे ने कहा कि मैं जब भी बीकानेर आती हूं तो सबसे पहले मुकाम स्थित गुरु जम्भेश्वरजी महाराज व देशनोक करणी माता के दर्शन करने के बाद बीकानेर में प्रवेश करती हूं। राजे ने सभा में पहुंचे लोगों का स्वागत करते हुए कहा कि मुझे पता है कि इस वक्त खेतों का काम परवान पर है, फिर भी आप अपना कीमती समय निकाल मेरे स्वागत में आये, इसके लिए मैं कृतिज्ञ हूं।
सूरसागर की दशा देख भड़की
इस दौरान राजे ने सूरसागर का अवलोकन भी किया। उन्होंने सूरसागर की दशा देख नाराजगी जताई कहा कि हमने 15 दिन में सूरसागर की दशा को सुधार दिया था। नगर विकास न्यास के अध्यक्ष पद पर रहते महावीर रांका ने भी यहां पड़ाव डालकर इसका सौन्दर्यकरण किया। लेकिन अब हालात बिगड़ गये है। इसकी सुध लेने की कांग्रेस के मंत्रियों को फुर्सत ही नहीं।
ये नेता रहे साथ
वसुन्धरा के कार्यक्रम में पूर्व मंत्री देवीसिंह भाटी,विधायक सिद्विकुमारी,पूर्व विधायक डॉ विश्वनाथ,भाजपा लघु उद्योग प्रकोष्ठ के महावीर रांका,सांसद व पुत्र दुष्यंत सिंह,पूर्व प्रधान राधादेवी सियाग,आरती आचार्य सहित अनेक नेता भी शामिल रहे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.