इस कारण कलेक्ट्रेट पर जुटे जिले भर के सरपंच

तहलका न्यूज,बीकानेर। संघ के लिखित समझौते और मांग पत्र पर आदेश जारी नहीं करने से सरपंच संघ आक्रोशित है। जिसको लेकर आज प्रदेशव्यापी धरना प्रदर्शन कर सरकार के खिलाफ भड़ास निकाली। कर्मचारी मैदान में जुटे जिले भर के सरंपचों ने अपने संबोधन में कहा कि जनवरी 2021 से आंदोलनरत सरपंच संघ से बार-बार लिखित समझौते और वार्ताएं की गई, लेकिन मांग पत्र की मांगों पर आदेश प्रसारित नहीं करने से सरपंच संघ में निराशा है। इससे आहत होकर संघ ने सरकार और विभाग के ध्यानाकर्षण के लिए आंदोलन करने का निर्णय लिया है और अगर सरकार अब भी नहीं चेती तो 5 अगस्त को जयपुर में महापड़ाव डाला जाएगा। सरपंच संघ जिलाध्यक्ष राजाराम ने बताया कि राजस्थान सरपंच संघ के निर्देशानुसार आज ग्रामसभा का बहिष्कार भी किया गया। साथ ही सरपंचों की ओर से संपूर्ण कार्यों का भी बहिष्कार किया जा रहा है। जब तक हमारी मांगें नहीं मानी जाती तब तक संपूर्ण कार्यों का बहिष्कार किया जाएगा। बाद में जिला कलक्टर को दिए ज्ञापन में अवगत कराया कि नागौर दौरे के वक्त पंचायतराज मंत्री रमेश मीणा ने मनरेगा में अनियमितताओं और घोटालों के आरोप भी लगा दिए और सरपंचों को चोर कहा। जिस कारण सरपंच संघ आहत है और संघ में भारी निराशा एवं आक्रोश व्याप्त हैं। अब सरपंच संघ की ओर से सरकार का ध्यान आकर्षण के लिए आंदोलन का निर्णय लिया गया है। सरपंचों ने बताया कि उनकी मांगें शीघ्र पूरी की जाएं नहीं तो जो आंदोलन होगा उसकी पूरी जिम्मेदारी सरकार की होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.