रेलवे स्टेशन पर ही शिक्षकों से घिरे डॉ कल्ला,जाने क्यों

तहलका न्यूज,बीकानेर। राजस्थान सरकार के शिक्षा मंत्री डॉक्टर बी.डी.कल्ला के बीकानेर आते ही अल सुबह राजस्थान अध्यापक संघ,कला वर्ग के एक प्रतिनिधि मंडल ने प्रदेशाध्यक्ष सुभाष जोशी के नेतृत्व मे मुलाकात कर शिक्षा सेवा संशोधन नियम 2021 के तहत व्याख्याता पदौन्नति करने की मांग के संबध में ज्ञापन सौंपा। प्रदेशाध्यक्ष जोशी ने बताया कि डॉक्टर कल्ला ने प्रतिनिधि मंडल की बात को ध्यान से सुनकर कहा कि कुछ लोग इस नियम में संशोधन की मांग कर रहे है तो विभाग इस नियम का उच्च स्तर पर एक बार परीक्षण करवा करवा मुख्यमंत्री से चर्चा कर कोई हल निक ाल ने में लगा है जिससे किसी भी अध्यापक को न्यायालय की शरण में नहीं जाना पड़े और ना ही राज्य के विद्यार्थियों को गुणवत्ता युक्त शिक्षा से वंचित होना पडे राज्य सरकार राज्य के विद्यार्थियों को गुणवत्ता युक्त शिक्षा देने के लिए प्रतिबद्ध है। प्रतिनिधि मंडल के लोगो ने शिक्षा मंत्री को कहा कि केवल पदौन्नति की चाह रखने वाले अध्यापको का एक वर्ग धरना प्रदर्शन कर इस नियम को बदलवाने का दवाब बना रहे है जो सरासर गलत है जबकि राज्य सरकार ने 50 सालों बाद शिक्षा सेवा नियमों में संशोधन पदौन्नति से ज्यादा राज्य के विद्यार्थियों को गुणवत्ता युक्त शिक्षा प्रदान करने के लिए बनाया है । तो शिक्षा मंत्री ने कहा धरना प्रदर्शन तो ट्रेड यूनियन का काम है आप तो शिक्षक वर्ग बुद्धिजीवी हो तो सरकार को अपने शुद्ध विचारों से अवगत करवाते हुए समाधान निकालने में सहयोग करें। प्रदेशाध्यक्ष जोशी ने शिक्षा मंत्री कल्ला से निवेदन किया कि आप इस नवीन नियम2021 को पूर्णतया लागू करवा कर सत्र 2021 -22 व 2022-23 की पदोन्नति में नवक्रमोन्नत विद्यालयों के पदों को शामिल करते हुए अतिशिघ्र पदोन्नति के आदेश करे। प्रतिनिधि मंडल में के.के.व्यास,श्याम सुन्दर ओझा और राजेन्द्र किराडू के साथ कर्मचारी नेता दिनेश चूरा सहित कई शिक्षक उपस्थित थे तथा जिले के कई शिक्षा अधिकारी भी इस बात के साक्षी बने ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.