सुसाइड नोट में लिखा ऐसी औलाद किसी को नहीं दें, फिर खुद को गोली मार ली

जालोर। जालोर में एक महिला सरपंच के ससुर ने बंदूक से खुद को गोली मार कर सुसाइड कर ली। मृतक ने सुसाइड करने से पहले एक वीडियो बनाया और सुसाइड नोट लिखा। दोनों में मृतक ने अपने बेटे से परेशान होकर सुसाइड करने की बात कही है। लिखा- मैं कहता हूं कि ऐसी औलाद किसी की नहीं हो। जो बाप का नहीं, वो किसी का नहीं। मेरा अंतिम संस्कार बेटा शक्ति नहीं करे, मेरा पोता आरडी सिंह करें।भाद्राजून इलाके के रामा गांव निवासी 72 साल के मोड सिंह ने सोमवार देर शाम खुद को बंदूक से गोली मारकर सुसाइड कर ली थी। उनके बेटे शक्ति सिंह की पत्नी वर्तमान में रामा गांव की सरपंच है। भाद्राजून थानाधिकारी प्रताप सिंह ने बताया कि पुलिस को मौके से सुसाइड नोट नहीं मिला है, लेकिन सुसाइड नोट व मृतक का वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर हुआ है। पुलिस सोशल मीडिया पर शेयर सुसाइड नोट की जांच कर रही है। सुसाइड नोट में मृतक ने अपने बेटे पर ही प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है।
सुसाइड नोट में पोते-पोती को दिया आशीर्वाद
मोड सिंह ने सुसाइड नोट में लिखा- मेरी पोती व पोता राणीदान सिंह ने हम दोनों की सेवा व बहुत प्यार किया। भगवान उनको हमेशा हर तरफ से सुखी व समर्थ रखे। मेरा आशीर्वाद है कि आप आपके दादू मम्मा का ध्यान रखना। जिनका मैंने बुरा किया, उनसे मैं माफी मांगता हूं। जिन्होंने मेरा बुरा किया, उनको मैं माफ करता हूं, इन तीनों के अलावा। भगवान मुझे माफ करे।मैं भगवान के पास जा रहा हूं। कारण यह है कि रावला बेटे शक्ति को 2008 में सौंपा। फिर 2009 में मुझे कसना चालू किया। 2018 तक हम दोनों के लिए 3000 रुपए महीना देता था। विक्रम सिंह व महेंद्र सिंह के संपर्क में आने के बाद आज तक बंद कर दिए। कहता था कि अगर जमीन व रुपए नहीं देंगे तो अपने आप दोनों मर जाएंगे। हमारे पास न जमीन है, न रुपए। शक्ति ने पहले जमीन ली, फिर रावला अपने नाम करवाया। जीप बिनणी (बेटे की पत्नी) के नाम करा ली। विक्रम व महेंद्र की सहमति से दोनों ने बंदूक ली और कहा- हमें खतरा है। ज्यादा कसूर शक्ति का ही है, इन दोषियों को सजा दिलाने में सब मदद करें।
बहू जिम्मेदार नहीं, सासू का ख्याल रखे
मृतक ने सुसाइड नोट में लिखा- बहू का इसमें प्रत्यक्ष सहयोग नहीं है। अगर सासू का ख्याल रखेंगे तो ठीक है, नहीं तो हमारे से भी बुरी हालत होगी। विवरण पूरा मेरी अलमारी में लिखा हुआ है। मैं कहता हूं शक्ति जैसी औलाद किसी को नहीं हो। जो बाप का नहीं, वह किसी का भी नहीं। भगवान मुझे मोक्ष प्रदान करें। वापस इस दुनिया में ही भेजें। आप सब प्रार्थना करें। मेरा अंतिम संस्कार शक्ति नहीं करे, पोता आरडी सिंह करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.