दलित युवक की प्राइवेट पार्ट काटकर हत्या,पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बड़ा खुलासा

तहलका न्यूज,बीकानेर। जिले के श्रीडूंगरगढ़ थाना इलाके म में एक दलित युवक की बेरहमी से हत्या का मामला सामने आया है। उसका प्राइवेट पार्ट काट दिया गया। फिर मारकर सड़क पर फेंक दिया गया। घटना की जानकारी मिलने के बाद पुलिस सक्रिय हुई। मौके पर पहुंची एफएसएल टीम ने भी कई महत्वपूर्ण सुराग जुटाने का प्रयास किया है। लाश पर चोट के कई निशान भी मिले हैं। रविवार सुबह श्रीडूंगरगढ़ मार्ग पर सुबह 10 बजे एक युवक का शव पड़ा मिला था। जेब खंगालने पर मिले आधार कार्ड से मृतक की पहचान लखासर निवासी 34 वर्षीय कुशाल मेघवाल के रूप में हुई है। उसके परिजनों को सूचित करके बुलाया गया। जिसके बाद कुशाल की पुष्टि हो गई।मृतक युवक केशराराम मेघवाल के पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बड़ा खुलासा हुआ है।

हत्या कर फेंका गया शव
पुलिस का मानना है कि सुबह शव फेंकने से पहले उसकी हत्या कहीं ओर की गई थी। बाद में शव बीच सड़क पर फेंक दिया गया। पुलिस ने पहले इसे सड़क हादसा समझा था, लेकिन बाद में शव की शिनाख्त करने पर पता चला कि उसका प्राइवेट पार्टी भी काटा गया है। इससे स्पष्ट हो गया कि हत्या की गई है।बीकानेर से पहुंची एफएसएल की टीम ने शव के आसपास पड़े सामान को कब्जे में लिया। उसके शरीर पर लगी चोट का भी मुआयना किया। शव को श्रीडूंगरगढ़ अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया गया है। उधर, मृतक की मौत के बाद से क्षेत्र के लोगों में भारी आक्रोश है। मृतक के परिजन हत्यारों की गिरफ्तारी तक पोस्टमार्टम नहीं करवाने पर अड़े हुए हैं। ​​​​​​दोपहर तक परिजन शव का पोस्टमार्ट करवाने के लिए तैयार नहीं हुए।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बड़ा खुलासा

मृतक युवक केशराराम मेघवाल के पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बड़ा खुलासा हुआ है। सीओ दिनेश कुमार व सीआई वेदपाल शिवराण ने बताया कि पोस्टमार्टम में युवक के गुप्तांग काटे जाने की सूचना पूर्णतया निराधार निकली है और मृत्यु के बाद शव सड़क पर औंधे पड़े होने के दौरान गर्मी के कारण खून गुप्तांगों में से बहना सामने आया है। मृतक के गुप्तांगों पर किसी प्रकार की चोट नहीं पाई गई है। शिवराण ने बताया कि 302 में सेरूणा थाने में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है और मामले में सख्ती से जांच की जा रही है। बता दें कि मृतक के शव के कपड़ो में गुप्तांग के पास खून के धब्बे होने के कारण प्राथमिक द्रष्टया गुप्तांग काट कर हत्या करना माना गया था और इसी कारण मामले में कई तरह की बातें की जा रही थी। लोगों में भी इसी कारण आक्रोश फैल गया था। अब पोस्टमार्टम और पुलिस रिपोर्ट की जांच के बाद ही मामले की वास्तविक स्थिति सामने आ रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.