पानी के लिये पार्षद ने दिखाई वीरूगिरी,लोगों ने लगाया जाम

तहनका न्यूज,बीकानेर। एक ओर तो नहरबंदी समाप्त हो गई है और जिला प्रशासन ने प्रतिदिन पानी सप्लाई के आदेश भी दे दिए है। फिर भी कई इलाकों में पर्याप्त पेयजल आपूर्ति नहीं होने के कारण विरोध के हालात बने हुए है। ऐसे में वार्ड 55 के पार्षद ने वीरू गिरी दिखाते हुए टंकी पर चढ़कर अपना विरोध दर्ज करवाया। पार्षद का आरोप है कि जलदाय विभाग के अधिकारी जनप्रतिनिधियों व राज्य सरकार की छवि खराब करने के उद्देश्य से नहरबंदी के बाद सुधरे हालात में भी पानी सप्लाई नहीं कर रही है। जिसके कारण उन्हें टंकी पर चढऩा पड़ा। बताया जा रहा है कि पार्षद के पानी की टंकी पर चढऩे की सुचना पर जलदाय विभाग के अधीक्षण अभियंता बलवीर सिंह मुक्ताप्रसाद कॉलोनी सेक्टर नंबर 2 स्थित जलदाय विभाग के कार्यालय पहुंचे और पार्षद से समझाइश कर उन्हें पानी की टंकी से नीचे उतरवाया और वार्ता की। वार्ता में जलदाय विभाग के अधिकारियो और पार्षद जावेद में तीन घंटे अतरिक्त सप्लाई देने पर सहमति बनने के बाद मामला शांत हुआ।
पानी के लिये लगाया जाम
नहरबंदी खत्म होने के बाद भी शहर में पेयजल किल्लत के कारण लोगों का धैर्य अब जवाब देने लगा है। जिसके चलते लोग सड़कों पर उतर आएं हैं। सर्वोदय बस्ती में शुक्रवार को महिलाओं ने रास्ता जाम अपना रोष जताया। प्रदर्शनकारियों का रोष है कि नहरबंदी खत्म हुए दो तीन दिन हो गये है। प्रशासन रोजाना पानी आने की बात कह रहा है। लेकिन उसके बाद भी सर्वोदय बस्ती क्षेत्र में रोजाना पानी नहीं आ रहा है। हालात यह है कि एक दिन छोड़कर एक दिन आ रहा पानी भी पर्याप्त रूप से नहीं आ रहा है। जिससे टेल एरिया में पानी ही नहीं पहुंच रहा। ज्यादातर लोग मोटरों से पानी सीधे पाइप लाइन से खींच रहे हैं। जब इसकी शिकायत करने जाते है तो कोई सुनवाई नहीं हो रही है। ऐसे में पीने के लिये उपलब्ध नहीं हो रहा है। यहीं नहीं लोगों में नाराजगी इस बात को लेकर थी कि पेयजल सप्लाई शुरू होने के समय अक्सर बिजली गुल हो जाती है। इससे जलदाय विभाग की टंकी पर मोटर नहीं चलती और लोगों को पानी नहीं मिलता। मामला गर्माता देख पुलिस को हस्तक्षेप करना पड़ा ओर समझाइश कर रास्ता खुलवाया।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.