मेळो आयो बाबे रो,सुन टाबरों री मां…..मैं गाड़ो लेर आऊं तू बनाले चुरामो

तहलका न्यूज,बीकानेर। पूनरासर मेले व सियाणा,कोडमदेसर मेले को लेकर कल से श्रद्वालुओं की रवानगी शुरू हो जाएगी। कोई पैदल तो कोई गाड़ों में बाबे के जैकारे लगाते हुए जाएंगे। इन पैदल जातरूओं की सेवा के लिये भी सामाजिक व स्वयंसेवी संस्थाएं तैयार है। जो अलग अलग जगहों पर कैंप लगाकर सेवा प्रदान करेगी। पूनरासर पैदल यात्रियों की सेवा के लिए संजीवनी सेवा समिति के सेवा जत्थे को बुधवार को शिक्षा मंत्री डॉ.बी.डी.कल्ला ने डागा चौक से हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।इस अवसर पर शिक्षा मंत्री डॉ. कल्ला ने कहा कि संस्था द्वारा सन 2001 से पैदल यात्रियों के लिए निश्चल भाव से सेवा कार्य किया जा रहा है, यह अनुकरणीय है। उन्होंने कहा कि परहित से बड़ा कोई धर्म नही होता। उन्होंने कहा कि पूनरासर हनुमान जन जन की आस्था का केंद्र है। यहां प्रतिवर्ष बड़ी संख्या में लोग दर्शन के लिए जाते हैं। संस्था के अध्यक्ष हेमंत रंगा ने बताया से संस्था द्वारा नोरंगदेसर से एक कि.मी. पहले गौड़ कृषि फार्म पर सेवादारों द्वारा चाय, नाश्ता, भोजन, मेडिकल की सेवा की जाती है। इस दौरान केदारनाथ सारस्वत, संजय जोशी, रोहित शर्मा, अशोक सुथार, ऋषि जोशी, हिमांशु शर्मा, हरिप्रकाश सुथार, राजकुमार सुथार, विष्णु व्यास, नत्थूराम मौजूद रहे।
51 फुट लंबी ध्वजा लेकर पूनरासर पदयात्रा करेंगे सांखला
भाद्रपद महीने में बाबा रामदेव जी समेत सभी लोक देवी देवताओं के भिन्न-भिन्न स्थानों पर मेले लगते हैं इन्हीं मेलों में एक प्रसिद्ध मेला है पूनरासर हनुमान जी का। कई दशकों से हनुमान भक्त ऊंट गाड़े से एवं पैदल व दंडवत भी यात्रा करते हैं। कुछ बाबा के परम भक्त जो बड़ी-बड़ी हाथों में ध्वजा लेकर भी यात्रा करते हैं। इन बढ़ी ध्वजाओं को हाथ में पकड़ कर लंबी दूरी तय करना आम आदमी के बस की बात नहीं होती। अपने इष्ट देवता के प्रति भारी आस्था और दृढ़ विश्वास एवं भक्ति से ही यह संभव हो पाता है। भीनाशहर निवासी हरिकिशन सांखला ऐसे ही भक्तों में से एक हैं जो बजरंगबली में बड़ी आस्था रखते हैं इन्होंने अपने व्यवसायिक प्रतिष्ठान टेंट हाउस का भी नाम पूनरासर टेंट हाउस रखा है। हरिकिशन सांखला 51 फुट लंबी ध्वजा को लेकर पूनरासर के लिए 31 अगस्त बुधवार दोपहर 1:15 पर अपने निवास स्थान भीनाशहर से प्रस्थान करेंगे। भक्त हरिकिशन सांखला जो हनुमान जी में बड़ी निष्ठा भाव रखते हैं और हर वर्ष पूनरासर हनुमान जी की ध्वज यात्रा समेत पदयात्रा भी करते आए हैं। सांखला के साथ मित्र मंडल के कार्यकर्ता सहयोग के रूप में रहेंगे।
गांधी प्याऊ पर सेवा शिविर
भैरूनाथ आडो आशी सेवा समिति नथूसर बास द्वारा हर वर्ष की भांति कोडमदेसर यात्रियों के लिये 8 सितंबर को गांधी प्याऊ से 1 किलोमीटर पहले आनंद आश्रम के सामने विशाल सेवा शिविर लगाया जाएगा। समितिअध्यक्ष राहुल चंदन ने बताया कि यात्रियों के लिए देसी घी की जलेबी,क ोफ्ता,आइसक्रीम,गन्ने का जूस,चाय,पानीआदि की निशुल्क सेवा उपलब्ध रहेगी संरक्षक नरेंद्र सांखला ने बताया की सेवा जत्था 8 सितंबर को दोपहर 2 बजे नथूसर बास भैरव मंदिर चौक से रवाना होगा। सेवा समिति का स्टीकर विमोचन उपमहापौर राजेंद्र पंवार, रोटरी क्लब के राजेश चुरा, मस्त मंडल सेवा संस्था के संरक्षक महावीर रांका, पूर्व जिला मंत्री चांदरतन सांखला,अभिनेता युधिष्ठिर सिंह भाटी,शहर कांग्रेस के जिलाध्यक्ष यशपाल गहलोत, कांग्रेस के महासचिव राजेंद्र किराडू, युवा कांग्रेस के अरुण व्यास, बीकानेर व्यापार मंडल के दीपक पारीक,शहर भाजपा के जिलाध्यक्ष अखिलेश प्रताप सिंह,पूर्व जिला अध्यक्ष सत्यप्रकाश आचार्य, पूर्व उपमहापौर अशोकआचार्य,पंकज गहलोत अंकित तंवर, गो सेवक देवकिशन चांडक, रोटरी क्लब के सेक्रेटरी श्रीलाल चांडक, व्यवसायिक प्रकोष्ठ भाजपा के दिनेश सांखला डॉ श्याम अग्रवाल, जिला प्रवक्ता मनीष सोनी,वासुदेव सोलंकी,पार्षद प्रतिनिधि जुगल आचार्य,पार्षद प्रतीक स्वामी,निर्मल देवड़ा आदि ने किया व समिति के राहुल चंदन, नरेंद्र सांखला संजय चंदन अजय और पंकज व पूरी टीम को निरंतर सेवा कार्य करने हेतु बधाई व शुभकामनाएं दी।

नोखड़ा त ठंडी छाछ व शीतल पानी की सेवा

राम दूत सेवा समिति की ओर से आज रामदेवरा के पैदल पदयात्रियों की की सेवार्थ आज सेवादारों ने नोखड़ा त ठंडी छाछ व शीतल पानीकी सेवा की।समिति के मनोज हर्ष ने बताया कि समिति की ओर से कल पूनरासर मेरे के पैदल पदयात्रियों के लिए कच्चे रास्ते में ठंडी छांव शीतल पानी की सेवा भी की जाएगी। समिति द्वारा पिछले 10 वर्षों से यह सेवा कार्य किया जाता है।

मां आशापुरा का मेला 3 से 6 सितंबर तक, दशमी को होगा भंडारा व कढ़ाई का प्रसाद
पोकरण स्थित मां आशापुरा माता जी का मेला 3 से 6 सितंबर तक होगा। मेले के लिए 3 सितंबर को सुबह 8 बजे बी के स्कूल के आगे से बसों की रवानगी होगी। आशापुरा भंडारा धर्मशाला के अध्यक्ष राजेश कुमार बिस्सा ने बताया कि मेले के अवसर पर धर्मशाला की ओर से चाय ,भोजन, ठंडे पानी व यात्रियों के ठहरने की व्यवस्था की जाएगी।गिरिराज बिस्सा ने बताया कि मेले के अवसर पर बीकानेर जोधपुर जैसलमेर दिल्ली मद्रास कोलकाता। अहमदाबाद और सूरत से भी भक्त दर्शनार्थ आते हैं।उन्होंने बताया कि बीकानेर से मां आशापुरा के लिए पैदल जाकर दर्शन करने वाले यात्री 3 तारीख की शाम को मां के दरबार में पहुंच कर दर्शन करेंगे। जहां सेवा समिति के द्वारा उनका स्वागत किया जाएगा।
उसने बताया कि इस वर्ष 18 वा विशाल भंडारा का आयोजन किया जाएगा। नवमी तिथि को 11:56 पर भांग प्रेमियों के लिए भांग का छणाव भी होगा। जिसमें बीकानेर जोधपुर जैसलमेर सहित देश के अन्य स्थानों से आते भांग प्रेमी विजया का आनंद लेंगे।आशापुरा भंडारा धर्मशाला अध्यक्ष राजेश कुमार बिस्सा ने बताया कि इस बार भंडारा संचालित करने के लिए राज कुमार बिस्सा एवं गोपाल व्यास को संयोजक बनाया गया है।बिस्सा ने बताया कि मेले के अवसर पर 9एव 10की रात्रि को जागरण होगा जिसमें बीकानेर एवं जैसलमेर के नामचीन गायकों द्वारा भजनों की प्रस्तुति दी जाएगी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.