सिंथेसियन्स के मोटीवेशन हेतु टैस्ट सीरीज टोपर्स को नगद पुरस्कार 

तहलका न्यूज,बीकानेर। पुरानी शिवबाड़ी रोड़ स्थित सिंथेसिस संस्थान में आजादी का अमृत महोत्सव ‘‘तिरंगा उत्सव’’ के रूप में हर साल की भांति इस वर्ष भी धूमधाम से आयोजित किया गया। कार्यक्रम का शुभांरभ सिंथेसिस परिवार के संरक्षक रेंवतमल बजाज, सहसंरक्षक विमला देवी और विशिष्ट अतिथि डॉ. के.डी.शर्मा सर के संस्मरण और आशीर्वाद से हुआ।कार्यक्रम का प्रारंभिक उद्बोधन मंे सिंथेसिस के प्रशासकीय निदेशक जेठमल सुथार ने विद्यार्थियों को बताया की असली आजादी का मतलब तभी है जब देश से सभी प्रकार की नफरत समाप्त होगी।इसके बाद कार्यक्रम में इंस्टीट्यूट के मेंटर्स मयूर बारसा, दीपक लढ्ढ़ा, निशा पुरोहित, डॉ. श्वेत गोस्वामी और सिंथेसियन अर्णव गोस्वामी द्वारा विभिन्न देशभक्ति गीत प्रस्तुत किये गये।इसी दौरान डूंगर कॉलेज के पूर्व प्रिंसिपल डॉ. के.डी. शर्मा ने आजादी के 75 सालों का अनुभव विद्यार्थियों के साथ साझा किया की किस तरह महानपुरूषों के बलिदान व सघंर्ष से देश को आजादी मिली। 15 अगस्त 1947 के दिन वे स्वयं 8 साल के थे अतः उन्होंने उस दिन अपनी स्कूल के संस्मरण सभी के साथ साझा किये। अभिभावक के रूप में शिक्षा विभाग के सहायक निदेशक मनीष कस्वां ने अपनी पु़ित्रयों के उदाहरण द्वारा विद्यार्थियों को कोचिंग का सिस्टम फोलो करने के लिये प्रेरित किया।
अकादमिक निदेशक डॉ. श्वेत गोस्वामी के अनुसार हर साल की भांति इस साल भी संस्थान की टैस्ट सीरीज में अव्वल तीन स्थान वाले 55 विद्यार्थियों को संस्थान द्वारा नकद पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया। जिसमें संस्थान की कक्षा 8वीं के तेजस चौधरी और सुमेर चारण को 900 रूपये, 9वीं कक्षा की यशस्वीं गर्ग को 2400 और वर्दित नारायण आचार्य को 900 रूपये, 10वीं कक्षा के शैलेष बिठ्ठू को 1250 और लावण्या बिश्नोई को 1000 रूपये, 11वीं कक्षा की आर्या कस्वां को 1550 और प्रांजलि जैन को 900 रूपये, 12वीं के यशवद्धन सिंह को 2600, शौर्य खत्री को 1600 और तनव सुथार को 1100 रूपये और टारगेट बैचस् में कुलदीप सुथार को 1000 और अनिल कुमावत को 1000 रूपये व अन्य विद्यार्थियों को मिलाकर कुल 30000 रूपये का नगद पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया। टॉपर्स विद्यार्थियों को कैश प्राइज सिंथेसिस संरक्षक रेवतमल बजाज, सह सरंक्षक विमला देवी, दीपक लढ्ढ़ा, मनीष सुखीजा, ओशोक सर, चिरायु सारवाल, निशा पुरोहित, पुनीत स्वामी, मयूर बारसा, विक्रम मलिक, विमला सारण, एकता गोस्वामी, पदमा बजाज और अमिता सुथार के करकमलो से प्राप्त हुए।आजादी का अमृत महोत्सव के सुअवसर पर सिंथेसिस प्रबंध निदेशक मनोज कुमार बजाज ने कहां कि जिस प्रकार हर-घर तिरंगा की मुहिम पुरे भारत में चली है उसी प्रकार हर-घर डॉक्टर व इंजीनियर की मुहीम चले जिसमें सिंथेसियन्स का योगदान ज्यादा से ज्यादा हो ओर वह समाज व देश में एक मिशाल बने व अपने देश का नाम पुरे विश्व में रोशन करें अतं में इन्होंने मौजूद समस्म अतिथिगण व अभिभावकों को धन्यवाद ज्ञापित किया। कार्यक्रम संचालन हेमन्त तंवर ने किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.