गर्मी को लेकर आयी बड़ी खबर,मिल सकती हे राहत !

राजस्थान में पड़ रही भीषण गर्मी से दो दिन बाद राहत मिलने की उम्मीद है। हवाओं में बदलाव के चलते प्रदेश के अधिकतर जिलों में गर्मी का असर कुछ कम हो जाएगा। बताया जा रहा है कि 48 घंटे बाद राजस्थान के ऊपर साइक्लोनिक परिसंचरण तंत्र बनेगा, जिसके चलते पश्चिमी हवाओं का असर कम होगा और नार्थ-वेस्टर्न हवाएं चलेंगी। इन हवाओं से गर्मी का असर कम होगा। जबकि पश्चिमी राजस्थान के बीकानेर और जोधपुर संभाग में तेज हवाएं चलने की संभावना जताई जा रही है। उधर, साइक्लोनिक परिसंचरण तंत्र के चलते देश के दो से तीन राज्यों में हल्की बारिश की संभावना बन रही है।

छाए रहेंगे हल्के बादल
मौसम केन्द्र जयपुर के निदेशक आर.एस. शर्मा की माने तो अगले 48 घंटे तक राजस्थान में गर्मी की स्थिति बरकरार रहेगी, लेकिन उसके बाद तापमान में 2 से 4 डिग्री तक गिरावट दर्ज हो सकती है। जहां तापमान 46 डिग्री को छू रहा है, वहां 42 से 43 डिग्री पर पहुंच जाएगा। राजस्थान में दो दिन बार साइक्लोनिक परिसंचरण तंत्र बनेगा, जिसके चलते कुछ स्थानों पर हल्के बादल भी छाए रहेंगे, लेकिन किसी प्रकार की बूंदाबांदी भी नहीं होगी। बड़ी बात यह है कि अभी पश्चिमी हवाओं के चलते गर्मी का असर ज्यादा हो रहा है। लेकिन दो दिन बार यह असर कम हो जाएगा। नार्थ-वेस्टर्न हवाएं चलने के बाद गर्मी से राहत मिल सकेगी। संभावना जताई जा रही है कि 11 व 12 अप्रेल को बीकानेर और जोधपुर संभाग में 30 से 35 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलेंगी, जिस कारण गर्मी की मार कुछ कम होगी।

अभी है रेड अलर्ट
राजस्थान की गर्मी ने फिलहाल हाल-बेहाल कर रखा है और इसके चलते दो दिन तक कुछ जिलों में गर्मी का रेड अलर्ट तक जारी कर रखा है। उधर, गर्म हवाओं के साथ ही तापमान में बढ़ोतरी का दौर जारी रहने से हीट स्ट्रोक की संभावना भी बढ़ गई है। अधिकतर जिलों में गर्मी का कर्फ्यू सा लग गया है। दोपहर के समय बाजारों में सन्नाटा पसरा हुआ दिखाई देने लगा है। अप्रेल में रेकाॅर्ड तोड़ गर्मी पड़ रही है। पूर्वी राजस्थान में बांसवाड़ा 45.2 डिग्री और पश्चिमी राजस्थान में श्रीगंगानगर 45.3 डिग्री के साथ सबसे गर्म चल रहा है। स्थिति यह है कि 20 से ज्यादा जिलों में 41 डिग्री को पार कर गया है।

अगले 48 घंटे तक यह स्थिति
मौसम केंद्र जयपुर की माने तो अगले 48 घंटों के दौरान पश्चिमी राजस्थान के जोधपुर और बीकानेर संभाग के अधिकांश स्थानों का अधिकतम तापमान 44-45 डिग्री सेल्सियस के बीच रहने की संभावना है। इसके साथ ही पश्चिमी राजस्थान के कुछ जिलों में तीव्र हीटवेव की चेतावनी (रेड अलर्ट) जारी किया है। आईएमडी के मुताबिक राजस्थान, पंजाब, हरियाणा-दिल्ली, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, विदर्भ, बिहार और झारखंड में लू चलने की संभावना है।


Leave a Reply

Your email address will not be published.