हो जाएं सतर्क,अब शहर में महज इतने समय बाद आएगा पानी

बीकानेर शहर में जलापूर्ति अब 72 घंटे में एक बार
तहलका न्यूज,बीकानेर। इंदिरा गांधी नहर परियोजना द्वारा बीकानेर शहर में नहरबंदी 21 मई तक प्रस्तावित थी, लेकिन वर्तमान में सरहिन्द फीडर के डायवर्सन की मरम्मत के कारण पानी 29 मई तक बीकानेर पहुंचने की संभावना है। वर्तमान में बीकानेर शहर को शोभासर एवं बीछवाल जलाशय के माध्यम से जल वितरण किया जा रहा है। नहरबंदी के दौरान जल उपलब्धता के अनुसार गुरुवार तक जलापूर्ति एंकातर आधार पर की जा रही थी। चूंकि वर्तमान परिस्थितियों में दोनों जलाशयों में जल भण्डारण अत्यधिक कम है, जो कि पूर्व में 21 मई को नहरबंदी समाप्त होने के आधार पर प्रबंध किया गया था। जिसके अनुसार बीकानेर तक पानी 25 मई तक आने की संभावना थी।
वर्तमान परिस्थितियों के तहत दोनों जलशयों में भंडारित जल के मध्यनजर रखते हुए ही 29 मई तक जलापूर्ति की जानी है, इसके अनुसार वर्तमान परिस्थितियों में बीकानेर शहर में दो दिवस के अंतराल (72 घंटे में एक बार) जल वितरण किया संभव होगा। इसके तहत गुरुवार तक जिन क्षेत्रों में आपूर्ति एक दिवस छोडकर एक दिन थी, वह अब दो दिवस छोड़कर होगी और जैसे ही लगभग 30 मई तक नहर में पानी का प्रवाह चालू होकर बीकानेर पानी पहुंचेगा, जल आपूर्ति नियमित कर दी जाएगी। जिला प्रशासन द्वारा समस्याग्रस्त क्षेत्रों में पानी की पूर्ति हेतु टैंकर के माध्यम से जल परिवहन करवाकर क्षेत्र में टैंकर खड़ा कर जल वितरण किया जाएगा। विभाग के पास इसके लिए टैंकर उपलब्ध हैं तथा टैंकरों की संख्या और फेरे आवश्यकता अनुसार बढ़ाए जाते रहेंगे। पानी के अपव्यय करने वालों और सप्लाई के दौरान विभागीय वितरण पाईप लाईन से बूस्टर उपयोग किए जाने पर संबंधित उपभोक्ता के खिलाफ कार्यवाही करते हुए बूस्टर जब्त किया जाएगा। इस दौरान अवैध जल संबंध काटने की कार्यवाही भी लगातार जारी रहेगी और और कोई भी व्यक्ति पानी का दुरूपयोग करते हुए पाया गया, तो उसके खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी।
जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के अधीक्षण अभियंता बलबीर सिंह ने बीकानेर शहरी एवं ग्रामीण उपभोक्ताओं से अपील करते हुए कहा है कि जल का मितव्ययता से उपयोग करें तथा फर्श, दीवार, गाड़ी इत्यादि धोकर पानी का दुरूपयोग नहीं करें। ऐसे घरेलू कार्य, जिनमें पानी का अधिक उपयोग होता है, उन्हें दस दिवस की अवधि के लिए स्थगित करें। इसके अतिरिक्त औद्योगिक और व्यवसायिक कार्यों में पानी का उपयोग नहीं करें। जिला प्रशासन के निर्देशन में विभाग के समस्त कार्मिक उपलब्ध जल एवं संसाधनों के अनुसार आमजन को स्वच्छ एवं न्यूनतम आवश्यकता अनुरूप पेयजल उपलब्ध करवाने के लिए कृत संकल्पित है। विभाग द्वारा पानी की समस्या नहीं आने दी जाएगी। किसी प्रकार की समस्या के संबंध में विभाग द्वारा स्थापित नियंत्रण कक्ष 0151-2226454 पर दूरभाष द्वारा अपनी शिकायत दर्ज करवाई जा सकती है। जिसका यथासंभव समाधान किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.