बाबे रो मेळो फेर आयग्यो…पदयात्रियों की सेवा के लिए समितियां भी हुई मुस्तैद,देखे विडियो

तहलका न्यूज,बीकानेर। बीकानेरमें तीज-त्यौहारों के साथ ही रामदेवरा, पोकरण के समीप आशापुरा माताजी, पूनरासर, सियाणा भैरव,कोडमदेसर सहित कई मेले भरते हैं। इनमें बीकानेर से हजारों की तादाद में श्रद्धालु भागीदारी निभाते हैं। खासकर रामदेवरा और पूनरासर में दर्शन के लिए लोग पैदल यात्रा करते हैं। पद यात्रियों की सेवा के लिए भी कई संस्थाएं सक्रिय रहती है। पद यात्रियों के जत्थों की रवानगी के बाद एक बारगी शहर ही खाली हो जाएगा। रामदेवरा जाने वाले यात्रियों के बाद अब पूनरासर व सियाणा भैरव के लिये पैदल जातरूओं की रवानगी शुरू होने वाली है।
पग-पग पर मुस्तैद रहेंगे सेवादार
पद यात्रियों की सेवा के लिए पग-पग पर सेवादार मुस्तैद रहेंगे। इसको लेकर सेवा समितियों के पदाधिकारी सक्रिय हो गए हैं। पैदल के रास्ते में इस बार कहां-कहां सेवा शिविर लगाए जाएंगे। इसको लेकर विचार-विमर्श चल रहा है। बीकानेर से रामेदवरा तक कई स्थानों पर पद यात्रियों के लिए भोजन,चाय, नाश्ता, दवाइयों के लिए सेवा शिविर लगाए जाएंगे।
जुटाया जरूरी सामान
शहर में पूनरासर व सियाणा मेले को लेकर तैयारी शुरू हो गई है। वहीं बाजार भी ध्वजा (झंडे) से अट गए हैं। पद यात्रा पर जाने वाले यात्रियों ने अपनी तैयारी शुरू कर दी है। टी-शर्ट, बनियान, चम्पल, जूते, टार्च आदि जरूरी सामान जुटा लिए हैं।
अनेक भजन तैयार
शहर के कलाकारों ने इन मेलों के लिये भजनों को भी तैयार किया है। जो पूरे रास्ते श्रद्वालुओं के मोबाइल व टैंटों में चलाए जाएंगे। शहर के युवा कलाकार नवदीप बीकानेरी,मुन्ना सरकार,के सी काका,आदित्य पुरोहित,मास्टर नानू,जीतू बीकानेरी,गोविन्द सारस्वत,कब्बाड़ी काका,मनीष पुरोहित,नीतेश किराडू,राजा हर्ष आदि ने अनेक फिल्मी गीतों पर भजनमाला तैयार की है। जिनके भजन सोशल मीडिया पर जमकर धमाल मचा रहे है।

मस्त मंडल सेवा संस्थान की पचासवीं स्वर्णिम फेरी का हुआ आगाज
संरक्षक रांका व सामसुखा ने संघ को दिखाई हरी झंडी, जयकारों के साथ निकला जत्था
ध्वजाबंध धारी ने खम्मा… व बाबे के जयकारों के साथ रविवार सुबह सवा पांच बजे इंदिरा चौक से मस्त मंडल सेवा संस्थान का संघ रवाना हुआ। संघ के संरक्षक महावीर रांका व सरोज देवी सामसुखा ने हरी झंडी दिखाकर पदयात्रियों को रवाना किया। इससे पूर्व संघ कार्यालय में बाबा रामदेव की आरती की गई। अध्यक्ष विजय मालू ने बताया कि संघ की यह 50वीं स्वर्णिम फेरी है। पदयात्रियों, सेवादारों व संघ अपनी व्यवस्थाओं के साथ 3 सितम्बर को सुबह रामदेवरा पहुंच जाएगा। इस दौरान मूलचंद सामसुखा, हनुमानमल रांका, जयकुमार सामसुखा, अरिहंत नाहटा, पूनमचंद चौरडिय़ा, देवेन्द्र बैद, किशोर भंसाली, सौरभ मालू, श्याम भाटी, पंकज नाहटा, अशोक पंचारिया, किशोर भंसाली, शिखर सिपानी, राजेश बोथरा आदि संघ व्यवस्थाओं में जुटे हैं।

श्री बाल मंडल मानस प्रचार एवं सेवा समिति

 पुनरासर पैदल जाने वाले यात्रियों के लिए रामरतन जी की प्याऊ पर श्री बाल मंडल मानस प्रचार सेवा समिति द्वारा नि: शुल्क भोजन,चाय,नाश्ता,चिकित्सा सेवा, आदी का सेवा सिवीर लगाया जाएगा इसकी जानकारी मंङल के संरक्षक नारायण दास पुरोहित ने दी और साथ ही मेला कार्यकारणी गठित की जिसमे अजय स्वामी,भूपेन्द्र जोशी, दिपक,मनोज, दिनेश, मनमोहन,अनूज को खाने और नाश्ते की व्यवस्था एवं सन्नू महाराज को चिकित्सा सेवा , सुखदेव पुरोहित,D.K. व्यास को मेला नियंत्रण की जिम्मेदारी सौंपी गई है जथ्था रवानगी  31-8-2022 को दोपहर 2:00 बजे साले की होली, केला कॉलोनी से होगी यह जानकारी मंङल अध्यक्ष सन्नू महाराज ने दी।

बाबा रामदेव मंडल सेवा समिति का जत्था मंगलवार को होगा रवाना
रामदेवरा पैडलयात्रियों ने लिए बाबा रामदेव मंडल सेवा समिति का सेवा जत्था मंगलवार प्रातः 10.30 बजे किराडूओं की बगीची से रवाना होगा।समिति के सचिव झंवरलाल आचार्य ने बताया कि शिक्षा मंत्री डॉ बी.डी.कल्ला, केंद्रीय कला एवं संस्कृति राज्य मंत्री श्री अर्जुनराम मेघवाल, शशिमोहन मूंधड़ा, राजेश चूरा, वैद्य किशनलाल आसोपा, डॉ. चन्द्रशेखर श्रीमाली इस जत्थे को हरी झंडी दिखाकर रवाना करेंगे।समिति के संयोजक राजेन्द्र पुरोहित ने बताया कि 5 दिन चलने वाली सेवा अभियान में सेवादारों द्वारा पैदल यात्रियों के लिए चानी गांव, कुंडिया, बडी शीड, बुधलाई तलाई, डाली बाई, रावतसरिया तालाब स्थल पर भोजन और मेडिकल आदि की व्यवस्था की गई है। उन्होंने बताया कि पैदल यात्रा के अंतिम दौर में पैदल जाने वाले यात्रियों के लिए यह सेवा जत्था बेहद उपयोगी रहता है।

गोवर्धन नाथ सेवा समिति के टी शर्ट का विमोचन
गोवर्धन नाथ सेवा समिति के टी शर्ट का विमोचन सोमवार को समिति के संरक्षक हीरालाल गोलछा और अन्य सदस्यों ने किया। गोलछा ने बताया कि समिति द्वारा 31 अगस्त और 1 सितंबर को रायसर स्थित मंडा कॉलेज के सामने पूनरासर पैदल यात्रियों के लिए भोजन, चाय, नाश्ता, पेयजल और चिकित्सा सेवा उपलब्ध करवाई जाएगी। उन्होंने बताया कि इसके मद्देनजर समिति के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं के टी शर्ट का विमोचन किया गया।

दड़िया महाराज मंडल की 31को रवानगी 80 वर्षों से कर रहे हैं सेवा पांचवीं पीढ़ी भी कर रही है परम्परा का अनुसरण
पुनरासर हनुमान जी के मेले में जाने वाले पैदल पथ यात्रियों की सेवा का सिलसिला स्वयं दडिया महाराज ने प्रारंभ किया जिसे आज पांचवीं पीढ़ी निरन्तर आगे बढ़ा रही है।कन्हैयालाल जी प्याऊ स्थित हनुमान मंदिर के आगे यह सेवा शिविर चार दिनों तक चलता है जिसमें यात्रियों को नहाने , मंजन,तेल कगी सेवा के साथ साथ गर्मागर्म केशर की जलेबी व आलू की सब्जी के साथ पकौड़ी का नाश्ता भी दिया जाता है।पिछले दो वर्षों से क्ररोना के कारण मेला नहीं हुआ था । इस साल भी दड़िया महाराज का मण्डल कन्हैयालाल जी की प्याऊ पर अपनी सेवाएं देगा।दड़िया महाराज मण्डल के अध्य्क्ष कन्हैयालाल व्यास ने बताया कि इस साल भी पिछले सालों की तरह ठंडा जल, स्नान सेवा,जलेबी पकौड़ी सब्जी की सेवा भक्तो के लिए जारी रहेगी। 1सितंबर से 3 सितंबर तक सेवा रहेगी। 3सितम्बर को कन्हैयालाल जी की प्याऊ पर बाबा का प्रसाद रखा गया है।मण्डल के सचिव रामप्रकाश व्यास(रामजी) ने बताया कि इस साल भी हर साल की तरह महिलाओ के लिए स्नान के लिए अलग से व्यवस्था की गई है। ताकि महिलाओ को किसी प्रकार की परेशानी न हो।दड़िया महाराज के मण्डल के बलदेव दास व्यास और श्याम सुन्दर व्यास ने बताया कि उनका परिवार निरन्तर सेवाएं दे रहा है और वर्षो से चली आ रही परम्परा को निभा रहा है आगे भी बाबे का आशीर्वाद रहा तो उनके आगे की पीढ़ी भी इस परंपरा का निर्वहन करती रहेगी।संस्था के किशनलाल व्यास ने कहा कि उनकी टीम में उनके परिवार के अलावा भी कुछ भक्त तन से अपनी सेवाएं देते है। जिससे उन्हें आनंद की प्रप्ति होती है।दड़िया महाराज मण्डल में अपनी सेवाएं देने वालो में कैलाश व्यास,कांतिलाल कच्छावा,चेनाराम गोदारा,रामेश्वर जी गोदारा ,देवेंद्रप्रकाश व्यास ,चंद्रप्रकाश व्यास ,सूर्यप्रकाश व्यास,दीपक,अमित ,सुमित,यादवेंद्र,महेंद्र रंगा,हेशिव रंगा ,रवि आचार्य, हरिरतन, राज कुमार व्यास ,सूरज रत्न हर्ष, गिरधारी कल्ला, विजय धीगडा,गुलाब सिंह, राधाकृष्ण छंगाणी ,शिवरतन ,मनीष ,शरद बिस्सा ,कालूराम रंगा,चांद रतन पुरोहित,बृजगोपाल बिस्सा ,आदित्य आचार्य,संजय जोशी,संदीप व्यास,कुणाल व्यास,सुधांशू व्यास,अनिरूद् व्यास,अंशुमान व्यास,विक्रम व्यास,केशव,आदि

Leave a Reply

Your email address will not be published.