अधिवक्ताओं-पत्रकारों ने लिया ये संकल्प,आप भी जाने क्या

तहलका न्यूज,बीकानेर। ढड्ढा कोटडी, बागड़ी मोहल्ला में स्स्न संकल्प पत्र अभियान को सपोर्ट करने के लिए वकील एसोसिएशन, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया व प्रिंट मीडिया के प्रतिनिधि एवम उपमहापौर राजेन्द्र पंवार आचार्य प्रवर के समक्ष हुए व आत्महत्या न करने हेतु एसएफयू संकल्प पत्र अभियान पर वार्ता की व अपने विचार प्रस्तुत किये। आचार्य प्रवर ने अपने संदेश में बताया कि जीने का मूल मंत्र है पुरुषार्थ । पुरुषार्थ करने वाला व्यक्ति सदैव आशावादी होता है । सिर्फ भाग्य के ही भरोसे जीने वाला व्यक्ति निराशावादी होता है । चिंता किसी समस्या का समाधान नही है । आचार्य प्रवर ने आत्महत्या मुक्त विश्व की कल्पना की व सबको इस अभियान से जुडऩे के लिए प्रेरणा दी । सभा में उप महापौर राजेन्द्र पंवार का सम्मान व अभिनंदन विजय लोढ़ा व विनोद सेठिया ने किया । बार एसोसिएशन के अध्यक्ष विवेक शर्मा का सम्मान व अभिनंदन संपत लाल तातेड़ व अशोक श्रीश्री माल ने किया, बीकानेर प्रेस क्लब के अध्यक्ष जयनारायण बिस्सा का सम्मान व अभिनंदन मोहनलाल झाबक व नवरतन सांड ने किया। सभा में जवरी लाल बोहरा, मीठालाल लोढ़ा, सोहनलाल झाबक, जयचंद लाल झाबक, पवन सोनावत व संघ के सभी सदस्य मौजूद थे । सभा मे इस अभियान के राष्ट्रीय संयोजक बच्छराज लुणावत ने कहा कि गुरुदेव की प्रेरणा से इस महाअभियान की शुरुआत की है व इसको सफल बनाने के लिये जुडऩे व जुटने का आह्वान किया व कहा कि मुझे राष्ट्रीय स्तर पर दायित्व मिला है इसलिए आप सभी इस अभियान में सहयोग करके सफल करें । बार एसोसिएशन के अध्यक्ष ने कहा कि गुरुदेव का यह अभियान जन जन के कल्याण के लिए है ,इसे हम सब मिलकर सफल करेंगे । ऐडवोकेट बजरंग जी छिम्पा ने कहा कि यह राष्ट्र चिंतन का विषय है और इस अभियान को शुरू करने वाले श्री विजयराज पहले महापुरुष है । उप महापौर राजेन्द्र पंवार ने कहा कि हमारा सौभाग्य है कि हम ऐसे महापुरुष का दर्शन वन्दन करने के लिए यहां आए हैं जो राष्ट्र हित की बात सोचते हैं । यह अभियान निश्चित ही राष्ट्रीय अभियान बनकर सफल होगा, हम भी इसमें भागीदारी निभाएंगे सभा का संचालन संजय सांड ने किया व बताया कि 10 सितम्बर को वर्ल्ड सुसाइड प्रिवेंशन डे पर आचार्य प्रवर की प्रेरणा से यह अभियान शुरू हुआ । श्रद्धेय विनोद मुनि जी म सा व तरुण तपस्वी श्री दिव्य मुनि जी म सा के मार्गदर्शन में संकल्प पत्र भरवाने का अभियान शुरू किया गया । आज आचार्य श्री के जन्म दिवस पर हम इसे ऑनलाईन प्लेटफार्म पर भी ले आये हैं व श्व संकल्प पत्र जारी कर दिया गया है , जिसका लिंक सम्पूर्ण देश व विदेश में प्रसारित किया जाएगा । आचार्य श्री का जीवन परिचय बताते हुए मोहनलाल झाबक ने बताया कि जैन संस्कृति में पहले संत है जिसमे इस धरा पर जन्म लिया व आचार्य बने । सभा के अंत में बच्छराज लुणावत ने सभी आगंतुकों का हृदय से आभार व्यक्त किया। चार्तुमास भोजन व्यवस्था लाभार्थी परिवार जेठमल,प्रवीण कुमार पारख की ओर से की गई । सभी ने संकल्प पत्र भरे व ज्यादा से ज्यादा संकल्प पत्र भराने का संकल्प भी लिया ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.