ई-मित्र से मात्र ढाई सौ रुपए में बनवाई दसवीं की मार्कशीट

तहलका न्यूज,बीकानेर। बीकानेर में चल रही सेनाभर्ती रैली में फर्जी डॉक्यूमेंट का चौंकाने वाला मामला सामने आया है। यहां झुंझुनूं के उदयपुरवाटी थाना क्षेत्र से एक युवक ने माध्यमिक शिक्षा बोर्ड अजमेर की दसवीं की फर्जी मार्कशीट तैयार कर ली। ये मार्कशीट उसे महज ढाई सौ रुपए में एक ईमित्र संचालक ने बनाकर दी। फर्जी डॉक्यूमेंट के साथ पकड़े जाने के बाद उसने सादे कागज पर अपनी गलती स्वीकार कर ली। उधर, बीछवाल थानाधिकारी ने कहा है कि उनके पास ऐसी कोई शिकायत नहीं आई है।मनोज डोईया की ओर से सेना को दिया गया माफीनामा।सेना के प्रवक्ता के माध्यम से एक माफीनामा जारी किया गया है, जिसके साथ युवक हाथ में दसवीं की मार्कशीट लिए नजर आ रहा है। माफीनामा में स्वयं को मनोज डोई निवासी डोईयों की ढाणी, थाना उदयपुरवाटी झुंझुनूं का निवासी बताया है। मनोज ने लिखा है कि उसने महज ढाई सौ रुपए में बालाजी ई-मित्र गोल्याणा से ये मार्कशीट महज ढाई सौ रुपए में निकलवायी है। माफीनामे में लिखा है कि मैं अपनी गलती स्वीकार करता हूं और सेना भर्ती के दौरान पकड़ा गया हूं।उधर, सेना ने इस बारे में बीछवाल थाने काे कोई सूचना नहीं दी है। जहां भर्ती हो रही है, उससे कुछ कदम की दूरी पर ही बीछवाल थाना है। ना सूचना दी गई है और ना ही फर्जी डॉक्यूमेंट लाने वाले केंडिडेट को पुलिस के हवाले किया गया है। थानाधिकारी महेंद्र दत्त ने बताया कि हमारे पास ऐसी कोई सूचना नहीं है।

इसी भर्ती में पहले भी हुए फर्जीवाड़े

इससे पहले भी तीन केंडिडेट्स के डॉक्यूमेंट पर सेना को शक हुआ था। तब लिखित शिकायत थाने में दी गई, जिस पर अब तक कोई एफआईआर नहीं हुई है, बल्कि जांच चल रही है। थानाधिकारी महेंद्र दत्त ने बताया कि इस मामले में छानबीन की जा रही है। वहीं एक अन्य केंडिडेट पर ऊंचाई बढ़ाने के लिए ऐडी के नीचे सिक्का लगाने की शिकायत हुई थी। इस मामले में भी अब तक कोई पुलिस कार्रवाई नहीं की गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.