रंग लाएं कुकणा के प्रयास,तकनीकी विवि प्रशासन झुका,मानी मांगे

तहलका न्यूज,बीकानेर। पिछले 16 दिनों से अपनी दस सूत्री मांगों को लेकर आन्दोलन कर रहे तकनीकी विवि के विद्यार्थियों के संघर्ष की आखिरकार जीत हुई। एनएसयूआई के पूर्व जिलाध्यक्ष रामनिवास कुकणा के प्रयास फिर से रंग लाएं और कुलपति ने धरना स्थल पर पहुंचकर लिखित आदेश देकर धरना समाप्त करवाया। जिसके पश्चात बीकानेर तकनीकी विश्वविद्यालय के छात्र-छात्राओं ने आंदोलन समाप्ति की घोषणा की व अनिश्चितकालीन पड़ाव को समाप्त करने का निर्णय लिया,तकनीकी विश्वविद्यालय के मुख्य द्वार पर की गयी तालाबंदी को समाप्त किया तथा छात्रप्रतिनिधि मंडल ने बीकानेर तकनीक विश्वविद्यालय के समर्थन में राजस्थान ने अन्य जि़लों के महाविद्यालयों में चल रहे धरनों को समाप्त करने का आग्रह किया। एनएसयूआई के पूर्व जि़लाध्यक्ष रामनिवास कुकणा कहा की यह छात्र-छात्राओं की कड़ी मेहनत व एकजुटता का ही परिणाम है,जिसका श्रेय विश्वविद्यालय के सभी विद्यार्थियों को जाता है,बीकानेर तकनीकी विश्वविद्यालय द्वारा कोरोना काल में ओड की आयोजित की गयी परीक्षाओं में जिन विद्यार्थियों के बैक आयी थी उनको प्रमोट करने का निर्णय लिया गया है तथा अब आगे आयोजित होने वाली ओड व इवन की परीक्षाओं में प्रशनों को हल करने में 50त्न की छूट मिलेगी। साथ ही कुकणा ने कहा की कुलपति को अपनी जि़द्द छोड़कर विद्यार्थियों के आगे झुकना पड़ा। इस निर्णय से बीकानेर तकनीकी विश्वविद्यालय के अधीन आने वाले सम्भावित 16 हज़ार विद्यार्थियों को लाभ मिलेगा। इस निर्णय के पश्चात छात्र-छात्राओं ने माँगों को पूरी करवाने में सहयोग के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत,पीसीसी चीफ़ गोविन्दसिंह डोटासरा,शिक्षा मंत्री डॉ बीडी कल्ला,केबिनेट मंत्री गोविन्दराम मेघवाल,व राज्य मंत्री भँवरसिंह भाटी,बोर्ड अध्यक्ष लक्ष्मण कड़वासरा,महेन्द्र गहलोत सहित बीकानेर जि़ला कलेक्टर,अतिरिक्त जि़ला कलेक्टर,पुलिस प्रशासन,विश्वविद्यालय स्टाफ़ आदि का धन्यवाद व्यक्त किया। छात्रसंघ अध्यक्ष कृष्णकुमार गोदारा ने कहा की यह बीकानेर के युवाओं की एकजुटता का परिणाम है की कुलपति को अपनी हठ छोड़कर माँगों को मानना पड़ा।
इन पर बनी सहमति
सहमति में विषम सेमेस्टर की बैक परीक्षाओं में कोरोना काल परिस्थितियों में लिये गये निर्णय के अनुसार प्रमोशन लागू किया जाएगा। साथ ही मैन परीक्षाओं व बैक परीक्षाओं में प्रश्न पत्रों में पचास प्रतिशत रियायत दी जाएगी। सप्तम सेमेस्टर की परीक्षा में आने वाली प्रस्तावित परीक्षा का शेडयूल अलग से जारी किया जाएगा। 11 से 18 मई को प्रस्तावित परीक्षा का शेडयूल अलग से जारी किया जायेगा। शेष मांगों पर पूर्व में ही सहमति बन चुकी थी। इस दौरान कुलपति ने धरना स्थल पहुंचकर विद्यार्थियों की मांगों के सहमति का पत्र सौपते हुए धरना समाप्त करवाया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.