फीचर आर्टिकल:बी-स्कूल चुनने का यही है सही समय, जानिए सही बी-स्कूल चुनते समय छात्रों को किन बातों का रखना चाहिए ध्यान

बी-स्कूल (बिजनेस स्कूल) चुनने का यह सही समय है और छात्र भी एक सही बी-स्कूल को अंतिम रूप देने की प्रक्रिया में हैं। एक छात्र को जब बी-स्कूल चुनना हो, तो उसे कुछ महत्वपूर्ण बातों को ध्यान में रखना बहुत जरूरी है। संस्थान की रैंकिंग अच्छी हो, इंडस्ट्री की मांग के आधार पर कोर्स हो, छात्रों के विकास के लिए प्रोग्राम चलाए जा रहे हों और सबसे जरूरी चीज सही समय पर कंपनियों में प्लेसमेंट मिले। वैसे प्लेसमेंट रिकॉर्ड और रैंकिंग ये दो ऐसी चीजें हैं, जो किसी बी-स्कूल या किसी भी शैक्षणिक संस्थान के बारे में बहुत कुछ कह देती हैं। इसी को आधार बनाकर छात्र यह अंदाजा लगा लेता है कि उसका करियर कितना आगे बढ़ेगा।

अगर छात्र सही संस्थान को चुन लेता है, तो उसके लिए आगे का रास्ता आसान हो जाता है। जब बात सही संस्थान के चुनने की आती है, तो Jaipuria Institute of Management का नाम एक अलग पहचान के साथ सामने आता है। लगभग 26 सालों का समृद्ध इतिहास लिए यह संस्थान पिछले कई सालों से इंडस्ट्री की मांग के अनुसार कोर्स तैयार कर रहा है और छात्रों को कई बड़ी कंपनियों में प्लेसमेंट दे रहा है। बैच 2022 के लिए चल रहा प्लेसमेंट इस बात का प्रमाण है कि इस डाउनटाइम में प्रमुख घरेलू और बहुराष्ट्रीय कंपनियों ने Jaipuria इंस्टीट्यू़ट से भर्ती की हैं।

प्लेसमेंट में Jaipuria ने दिखाई शानदार परफॉर्मेंस

2020-22 बैच के लिए चल रहे प्लेसमेंट में पिछले वर्षों की तुलना में Jaipuria ने अभूतपूर्व वृद्धि दिखाई है। दरअसल मार्केट धीमा है और अभी तक उबरा नहीं है। उसके बावजूद Jaipuria ने प्लेसमेंट के क्षेत्र में जबरदस्त उपलब्धि दिखाई है। 2022 में जो छात्र ग्रेजुएट होंगे, उनका प्लेसमेंट चल रहा है, उसमें 90+ छात्र Deloitte में भर्ती पा चुके हैं। वहीं 40 से ज्यादा छात्रों को ICICI बैंक, 20 से ज्यादा छात्रों को E&Y और 20 से ज्यादा छात्रों को HCL में भर्ती मिली है।

अब तक इस प्लेसमेंट सेशन में 19.18 लाख रुपए का हाईएस्ट पैकेज मिला है। 19.18 लाख के पैकेज के साथ सिलिकॉन लैब्स में सिलेक्टेड हुई इशिता श्रीवास्तव कहती हैं, “Jaipuria ने मुझे न केवल मेरे करियर के लिए, बल्कि उससे भी आगे के लिए तैयार किया है। लर्निंग एक्सपीरियंस और कॉर्पोरेट एक्सपोजर के लिए Jaipuria का तहे दिल से धन्यवाद।”

इस प्लेसमेंट की खास बात यह है कि इस बार नए प्रोफाइल के साथ ज्यादा से ज्यादा कंसल्टिंग फर्म ने छात्रों को रिक्रूट किया है। Deloitte में प्लेसमेंट प्राप्त करने वाली ग्वालियर की गरिमा अग्रवाल कहती हैं, “Jaipuria में करिकुलम को इंडस्ट्री की मांग को ध्यान में रखते हुए तैयार किया जाता है। मैं इस बात से बहुत खुश हूं कि मुझे एक कंसल्टिंग फर्म में एक यूनिक प्रोफाइल में प्लेसमेंट मिला।”

अच्छे प्रोफाइल के आधार पर मिली नौकरी

Jaipuria के छात्रों को विभिन्न कंपनियों में अच्छे प्रोफाइल पर नौकरी मिली है। इसमें फायनेंस, ऑपरेशन, सप्लाई चेन, HR, एनालाटिक्स, रिसर्च साइबर सिक्योरिटी, कंसल्टिंग, Artificial Intelligence and Machine Learning, डेटा इंजीनियरिंग, इनवेस्टमेंट बैंकिंग, पोर्टफोलियो मैनेजमेंट, ऑल्टरनेटिव इन्वेस्टमेंट फंड, डिजिटल और सोशल मीडिया मार्केटिंग, ट्रेड मार्केटिंग, ई-कॉमर्स, क्लाउड एप्लिकेशन, एंटरप्राइज परफॉर्मेंस मैनेजमेंट, प्रोसेस कंसल्टिंग, प्रोडक्ट मैनेजमेंट, इंटरनेशनल लॉजिस्टिक्स, स्पेंड एनालिटिक्स, सॉल्यूशंस डिजाइन, फिनटेक सॉल्यूशन इंक्यूबेशन, मार्केटिंग रिसर्च और भी बहुत कुछ शामिल है।

 

 

NIRF रैंकिंग में भी Jaipuria ने दर्शाई अपनी विश्वसनीयता
NIRF भारत में उच्च शिक्षा के संस्थानों को रैंक करने के लिए भारत सरकार के शिक्षा मंत्रालय द्वारा अपनाया गया एक सिस्टम है। यह हर साल परफॉर्मेंस के हिसाब से शिक्षा संस्थानों की रैंकिंग की लिस्ट जारी करता है। Jaipuria के तीन कैंपस (लखनऊ, नोएडा और जयपुर) को 2021 में National Institute Ranking Framework (NIRF) द्वारा देश के टॉप 75 बी-स्कूलों में शामिल किया गया है। 59वें स्थान पर Jaipuria नोएडा, 68वें स्थान पर Jaipuria लखनऊ और Jaipuria जयपुर 74वें स्थान पर लिस्टेड हैं। इसमें IIM भी शामिल है। NIRF की रैंकिंग में Jaipuria का नाम आना उसकी विश्वसनीयता को दर्शाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.